Phone Tapping के मुद्दे से फिर गूंजी Rajasthan Assembly, BJP नेता बोले- हो कार्रवाई

शून्यकाल के दौरान बीजेपी के भूपेन्द्र यादव (Bhupendra Yadav) ने इस मामले को उठाया और इसे भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम (Indian telegraph act) का उल्लंघन करार देते हुए इस पर रोक लगाने के लिए आवश्यक कार्रवाई की मांग की.

Phone Tapping के मुद्दे से फिर गूंजी Rajasthan Assembly, BJP नेता बोले- हो कार्रवाई
प्रतीकात्मक तस्वीर.

New Delhi: राजस्थान (Rajasthan) में कथित फोन टैपिंग (Phone Tapping) का मुद्दा शुक्रवार को राज्यसभा में उठा, जिसे लेकर सत्ताधारी कांग्रेस (Congress) और विपक्षी बीजेपी (BJP) सदस्यों के बीच थोड़ी देर के लिए नोकझोंक भी हुई.

यह भी पढ़ें- Phone Tapping के सबूत दे BJP, Congress के सभी विधायक देंगे इस्तीफा: Shanti Dhariwal

शून्यकाल के दौरान बीजेपी के भूपेन्द्र यादव (Bhupendra Yadav) ने इस मामले को उठाया और इसे भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम (Indian telegraph act) का उल्लंघन करार देते हुए इस पर रोक लगाने के लिए आवश्यक कार्रवाई की मांग की.

यह भी पढ़ें- Rajasthan: फोन टैपिंग को लेकर CM गहलोत बोले- ये BJP का आपसी झगड़ा

 

उन्होंने कहा कि भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम के तहत बिना नियमों का पालन किए किसी भी व्यक्ति का टेलीफोन टैप नहीं किया जा सकता है. राजस्थान के छह करोड़ नागरिक, वहां का मीडिया, वहां के विपक्षी दल और उसके साथ-साथ कांग्रेस के भी कुछ नेताओं का दर्द बयान करना चाहता हूं. वहां के मुख्यमंत्री के ओएसडी द्वारा उनका (कुछ नेताओं का) ऑडियो टैप किया गया. इसे संवैधानिक अधिकार से जुड़ा विषय बताते हुए यादव ने कहा कि आखिर देश के नागरिकों के टेलीफोन किस प्रकार से टैप किए जा सकते हैं.

कांग्रेस ने जताई आपत्ति
यादव द्वारा इस मामले को उठाए जाने पर कांग्रेस (Congress) के सदस्यों ने आपत्ति जताई और इसके मद्देनजर राज्यसभा के सभापति ने कहा कि सदन में किसी के खिलाफ या किसी राज्य सरकार के खिलाफ आरोप-प्रत्यारोप नहीं किया जा सकता. कांग्रेस और बीजेपी सदस्यों के बीच थोड़ी देर तक चली नोकझोंक के बीच यादव ने कहा कि वह नागरिकों के अधिकारों का मुद्दा उठा रहे हैं.

निजता के अधिकार को किया गया खंडित
उन्होंने कहा कि राजस्थान की छह करोड़ जनता, वहां का लोकतंत्र, वहां की लोकतांत्रिक व्यवस्था और वहां के कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं की निजता का अधिकार संविधान में दिया गया है, उसे खंडित किया जा रहा है. इस देश में हर नागरिक को सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अधिकार है. जिस प्रकार से पूरे देश में कांग्रेस के नेताओं और कांग्रेस की सरकारों के द्वारा टेलीफोन टैप किए जा रहे हैं, आप कम से कम सभी लोगों को संरक्षण दें. उनकी निजता को संरक्षण दें. जिस प्रकार से अवैध तरीके से लोगों के टेलीफोन टैप किए जा रहे हैं, उस पर रोक लगाई जाए.

इनपुट- भाषा