Corona की वजह से करीब 35 हजार पदों पर भर्ती का इंतजार हुआ लंबा, जानिए कौनसी है ये भर्ती

 राजस्थान के साथ ही पूरे देश में इस समय कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है.

Corona की वजह से करीब 35 हजार पदों पर भर्ती का इंतजार हुआ लंबा, जानिए कौनसी है ये भर्ती
फाइल फोटो

Jaipur : राजस्थान के साथ ही पूरे देश में इस समय कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. बढ़ते प्रकोप के चलते जहां पहले बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित (Exam Postpone) की गई, तो उसके बाद अब प्रतियोगी परीक्षाओं को भी लगातार स्थगित किया जा रहा है. 2 दिन पहले 20 जून को आयोजित होने वाली थी रीट शिक्षक भर्ती परीक्षा (Reet teacher recruitment exam) को भी स्थगित करने का फैसला लिया गया. 

यह भी पढ़ें- बढ़ते Covid संक्रमण को लेकर हालात चिंताजनक, BJP प्रवक्ता Ramlal Sharma ने रखी यह मांग

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए परीक्षा को फिलहाल स्थगित करने का फैसला लिया. इसके साथ ही आरपीएससी और राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (Rajasthan Staff Selection Board) की ओर से भी अपनी कई परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया जा चुका है. वहीं, प्रदेश के बेरोजगारों ने फिलहाल कोरोना के लगातार बढ़ते प्रकोप के चलते और ऐसे में परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला स्वागत योग्य है, लेकिन इसके साथ ही बेरोजगारों ने मांग की है कि कोरोना के मामलों में जैसे ही काबू पाया जाए. वैसे ही प्रदेश की 2 सबसे बड़ी भर्ती परीक्षाओं के आयोजन को प्राथमिकता दी जाए. इसमें से पहली परीक्षा है रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा और दूसरी परीक्षा है पटवारी भर्ती परीक्षा. 

गौरतलब है कि 31 हजार पदों पर होने वाली रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा पांचवीं बार स्थगित हुई है. वहीं, 4421 पदों पर आयोजित होने वाली पटवारी भर्ती परीक्षा जनवरी में स्थगित हुई थी, लेकिन उसके बाद से ही अभी तक उसकी परीक्षा तिथि जारी नहीं की गई है. 

रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा में जहां करीब 16 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं, तो वहीं पटवारी भर्ती परीक्षा में भी करीब 15 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत है. राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव का कहना है कि "कोरोना का प्रकोप वर्तमान में बहुत ज्यादा बढ़ गया है. ऐसे में सरकार की ओर से परीक्षाएं स्थगित कर परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा रहा है, लेकिन सरकार से मांग है कि रीट और पटवारी भर्ती परीक्षा में करीब 30 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत है और लंबे समय से यह इन परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं.

ऐसे में जैसे ही कोरोना के बढ़ते हुए प्रकोप पर काबू पाया जाए. उसके साथ ही सरकार की ओर से इन दोनों परीक्षाओं को करवाने की पहली प्राथमिकता रहे, जिससे प्रदेश के सैंकड़ों बेरोजगारों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो सके. साथ ही दोनों ही भर्ती परीक्षाओं में पदों की संख्या बढ़ाकर प्रदेश के बेरोजगारों को सौगात भी सरकार की ओर से दी जाए." 

यह भी पढ़ें- Covid प्रबंधन को लेकर BJP ने राजस्थान सरकार पर बोला हमला, कहा- CHC-PHC पर हो इलाज