SMS Hospital बन रहा है मेडिकल टूरिज्म का हब, नाइजीरियन मरीज का हुआ सफल ऑपरेशन
X

SMS Hospital बन रहा है मेडिकल टूरिज्म का हब, नाइजीरियन मरीज का हुआ सफल ऑपरेशन

प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल सवाई मानसिंह अस्पताल अब मेडिकल टूरिज्म का हब बनता जा रहा है.

SMS Hospital बन रहा है मेडिकल टूरिज्म का हब, नाइजीरियन मरीज का हुआ सफल ऑपरेशन

Jaipur : प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल सवाई मानसिंह अस्पताल अब मेडिकल टूरिज्म का हब बनता जा रहा है. इसी के तहत हाल ही में अस्पताल के कार्डियक सर्जरी विभाग ने एक 19 वर्षीय नाइजीरियन मरीज (Nigerian patient) के हृदय के वॉल्व का सफल ऑपरेशन किया है और चिकित्सकों का कहना है कि इस 19 वर्षीय मरीज का हृदय सिर्फ 30% की काम कर रहा था. कार्डियक सर्जरी विभाग के सीनियर प्रोफेसर डॉ. अनिल शर्मा और उनकी टीम ने इस ऑपरेशन को अंजाम दिया. 

इस मौके पर डॉ. शर्मा ने बताया के नाइजीरिया के गोम्बी शहर के रहने वाले 19 वर्षीय अब्दुल्ला का दिल सिर्फ 30% ही काम कर रहा था और मरीज का दिल फूलकर फुटबॉलनुमा हो चुका था. इसके अलावा मरीज बीते 6 महीने से सांस फूलने की बीमारी से भी पीड़ित था और जब मरीज को अस्पताल में लाया गया तो वह खड़ा भी नहीं हो पा रहा था. जब मरीज की जांच की गई तो उसमें सीवीयर माइट्रल रिगर्जिटेशन पाया गया जो एक दिल से जुड़ी बीमारी होती है. इसके अलावा दिल के मुख्य वॉल्व में भी परेशानी देखने को मिली. 

यह भी पढ़ें: REET अभ्यर्थियों के लिए परीक्षा से पहले बड़ी चुनौती, सैकड़ों किलोमीटर दूर Center 

ऐसे में अस्पताल (SMS Hospital) में भर्ती होने के बाद मरीज का तुरंत ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया. इस ऑपरेशन की खास बात यह रही कि बिना हड्डी काटे और सिर्फ एक छोटे से चीरे द्वारा मरीज के दिल का ऑपरेशन किया गया. वहीं, कार्डिक सर्जन डॉक्टर मोहित शर्मा ने बताया कि जब मरीज को इस तरह की दिल की बीमारी होती है तो ऑपरेशन के दौरान जान जाने का खतरा बना रहता है और विकसित देशों में तकरीबन 20 से 30% लोग इस तरह की बीमारी से पीड़ित रहते हैं. 

उन्होंने बताया कि अन्य अस्पतालों की तुलना में सिर्फ एक से डेढ़ लाखों रुपए के अंदर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है. फिलहाल ऑपरेशन के बाद मरीज एकदम स्वस्थ है और और इसने चलना फिरना भी शुरू कर दिया है. इस ऑपरेशन को डॉ अनिल शर्मा और उनकी टीम ने अंजाम दिया जिसमें डॉक्टर सुनील दीक्षित डॉक्टर मोहित शर्मा डॉक्टर सौरभ मित्तल रेजीडेंट चिकित्सक डॉक्टर जमना राम डॉक्टर जील, इसके अलावा एनेस्थीसिया विभाग से डॉ अंजुम और डॉक्टर अरुण भी ऑपरेशन के दौरान मौजूद रहे.

Trending news