जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक स्वयं संभालें पटवारी भर्ती परीक्षी की व्यवस्था- मुख्य सचिव
X

जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक स्वयं संभालें पटवारी भर्ती परीक्षी की व्यवस्था- मुख्य सचिव

 मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने सचिवालय में कोरोना (Corona Virus) को लेकर कलक्टरों के साथ चर्चा की और आवश्यक दिशा निर्देश दिए.

जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक स्वयं संभालें पटवारी भर्ती परीक्षी की व्यवस्था- मुख्य सचिव

Jaipur: मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने सचिवालय में कोरोना (Corona Virus) को लेकर कलक्टरों के साथ चर्चा की और आवश्यक दिशा निर्देश दिए. मुख्य सचिव (Chief secretary) ने जिला कलक्टरों को निर्देश दिए कि वे किसी भी हालत में अपने-अपने जिलों में कोविड की जांचों को कम नहीं होने दें और ना ही वैक्सीनेशन ड्राइव (Vaccintion drive) की गति को कम होने दें. 

यह भी पढ़ें-इसी रबी सीजन से ज्यादा किसानों को मिल सकेगा ऋण, किसान करवा सकते हैं ऑनलाइन पंजीयन

वैक्सीनेशन के लिए उन लोगों को प्रेरित करें, जिन्हें अब तक पहली डोज भी नहीं लगी है. साथ ही वैक्सीन की वेस्टेज की भी मॉनिटरिंग रखें. मौसम बदलने के साथ ही प्रदेश में डेंगू (Dengue), चिकनगुनिया, स्क्रब टाइफस, मलेरिया और स्वाइन फ्लू के रोगी सामने आ रहे हैं. इन सब में डेंगू के मामले सबसे ज्यादा हैं. उन्होंने निर्दश दिये कि इन रोगियों को आवश्यकता होने पर तुरन्त भर्ती किया जाए और जरूरत होने पर कोविड के लिए विकसित सुविधाओं का भी उपयोग किया जाए. 

यह भी पढ़ें-बेरोजगारों के लिए बड़ी खबर, 2500 होमगार्ड नामांकन की प्रक्रिया इस तारीख से होगी शुरू

आर्य ने निर्देश दिये कि जिलों में मौसमी बीमारियों (Seasonal disease) से बचाव के लिए पानी का भराव नहीं होने देने और मच्छरों को पनपने से रोकने के उपाय किये जाए. इस संबंध में आम जन को भी जागरूक किया जाए. उन्होंने मौसमी बीमारियों की रोकथाम और उपचार के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित करने के लिए भी जिला कलक्टरों को निर्देश दिये. उन्होंने नियमित फॉगिंग करने और प्रभावित क्षेत्रों में मच्छरदानी वितरित करने के लिए कहा. 

बैठक में चिकित्सा शिक्षा विभाग के शासन सचिव वैभव गालरिया ने कहा कि जिला कलक्टर जिलों में ऑक्सीजन प्लांट शुरू करने के लिए डिस्कॉम से संबंधित तथा अन्य मुद्दों का शीघ्र समाधान करें। उन्होंने कहा कि जिलों में मौसमी बीमारियों की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों को चिह्वित करें तथा वहां सुरक्षात्मक व उपचारात्मक उपाय करें, जिससे इन बीमारियों के प्रसार को रोका जा सके.

Trending news