Baran में हिरण की गोली मार कर हत्या, घटना से ग्रामीणों में आक्रोश

बारां जिले के शाहाबाद क्षेत्र में वन्यजीवों का शिकार, पेड़ों का कटान और अतिक्रमण जोरों पर है दुर्लभ जैव और वानस्पतिक विविधता से परिपूर्ण जंगल सरकार और वन विभाग की अनदेखी से नष्ट हो रहे हैं. 

Baran में हिरण की गोली मार कर हत्या, घटना से ग्रामीणों में आक्रोश
गोली की आवाज सुनकर आए ग्रामीण मौके की तरफ दौड़े. ग्रामीणों को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गए.

Baran: सरकार और वन विभाग (Forest Department) की अनदेखी से बारां जिले में वन और वन्यजीव संकट में हैं. शाहाबाद क्षेत्र में स्थित औगाड गांव में बंदूक से गोली मारकर एक हिरण का शिकार किया गया है. 

गोली की आवाज सुनकर आए ग्रामीण मौके की तरफ दौड़े. ग्रामीणों को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गए. वन विभाग की टीम मृत हिरण को शाहाबाद लेकर गई है. जहां आज पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. विभागीय अधिकारी मामले की जांच में जुटे हुए हैं.

यह भी पढ़ें- Kota: हार्डकोर बदमाश हजरत अली उर्फ गुड्डू को जेल, Rajpasa Act के तहत कार्रवाई

औगाड निवासी ग्रामीणों ने बताया कि गांव के लोग हनुमान मंदिर और खेत पर काम कर रहे थे तभी नदी की तरफ से दो जने हाथ में बंदूक लेकर हिरण का पीछा करते हुए आए और फायर कर दिया. बंदूक की गोली लगने से हिरण की मृत्यु हो गई. ग्रामीणों को देखकर आरोपी मौके से भाग गए. मामले की सूचना वन विभाग अधिकारियों को दी गई. वनकर्मी बाबूलाल के नेतृत्व में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची, तब तक हिरण की मृत्यु हो चुकी थी. मृत हिरण को शाहाबाद लेकर गए हैं. हिरण के शिकार की घटना क्षेत्रवासियों में आक्रोश व्याप्त है.

संकट में वन्य जीवों का जीवन
बारां जिले के शाहाबाद क्षेत्र में वन्यजीवों का शिकार, पेड़ों का कटान और अतिक्रमण जोरों पर है दुर्लभ जैव और वानस्पतिक विविधता से परिपूर्ण जंगल सरकार और वन विभाग की अनदेखी से नष्ट हो रहे हैं. वनक्षेत्र में अतिक्रमण, अवैध खनन, पेड़ों की कटान और शिकार जोरों पर है. जंगल में अवैध गतिविधियों पर लगाम नहीं लगाई जा रही है. वन माफिया को संरक्षण के चलते हर साल सैंकड़ों बीघा पर अतिक्रमी काबिज हो रहे हैं. कुछ दिन पहले शाहाबाद के जंगल में अज्ञात वाहन की टक्कर से शाहाबाद में पैंथर की मृत्यु हो चुकी है.

Reporter- Ram Mehta