close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: परकोटा को विश्व धरोहर सूची में शामिल कराएगी गहलोत सरकार, उठाए अहम कदम

अवैध निर्माणों पर रोक लगाने के लिए जयपुर नगर निगम भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दिशानिर्देशों पर काम करेगा. यदि किसी इमारत की मरम्मत करना जरूरी हो जाता है 

राजस्थान: परकोटा को विश्व धरोहर सूची में शामिल कराएगी गहलोत सरकार, उठाए अहम कदम
फाइल फोटो

रोशन शर्मा, जयपुर: विश्व धरोहर सूची में जयपुर को अपनी पहचान मिल सके इसके लिए राज्य सरकार जयपुर के परकोटे को 'नो कंस्ट्रक्शन जोन' घोषित करने जा रही है. इस आदेश के जारी होने के बाद परकोटा में किसी भी नए निर्माण कार्य के लिए अनुमति नहीं मिलेगी. यह कवायद जयपुर के परकोटा को विश्व धरोहरों में शामिल करवाने के लिए की जा रही है. इसको लेकर जयपुर नगर निगम जल्द ही अधिसूचना जारी करने जा रहा हैं. राज्य के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की अध्यक्षता में हुई राज्य स्तरीय धरोहर समिति की बैठक में लिया गया.

इससे पहले साल 2018 में स्मारक और स्थलों की अंतर्राष्ट्रीय परिषद (आईसीओएमओएस) का एक दल शहर में आया था. टीम ने शहर में अवैध अतिक्रमण और निर्माण कार्यों का हवाला देते हुए शहर को विश्व धरोहर में शामिल करने का कदम स्थगित कर दिया था. जिसके बाद अब भी गहलोत सरकार नें चारदिवारी क्षेत्र को नो कंस्ट्रक्शन जोन घोषित करने की तैयारी शुरू कर दी हैं. इस ही के साथ परकोटा क्षेत्र में धरोहर और प्राचीन दीवारों से एक निश्चित दूरी तक कोई निर्माण कार्य नहीं हो सकेगा. 

अवैध निर्माणों पर रोक लगाने के लिए जयपुर नगर निगम भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दिशानिर्देशों पर काम करेगा. यदि किसी इमारत की मरम्मत करना जरूरी हो जाता है तो इसके लिए विशेषज्ञों और अधिकारियों की एक उच्चस्तरीय समिति से एक अनुमोदन लेना जरूरी होगा. नगर निगम एक वास्तु नियंत्रण दिशा-निर्देश जारी करेगा. वहीं, सुगम यातायात व्यवस्था के लिए एक विस्तृत योजना भी बनाई जाएगी.

चारदिवारी क्षेत्र को विश्व धरोहर सूची में शामिल करने के लिए सरकार नियमों का एक ड्राफ्ट तैयार कर रही है. जिससे परकोटा का असली वास्तु के साथ छेड़छाड़ न हो सके. इसके लिए नगर निगम की धरोहर शाखा इस पर नजर रखेगी. प्रभावी निगरानी के लिए कैमरे लगाए जाएंगे.