close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: आवंटित हो सकते हैं गैर सर्विस पैटर्न हथियार, आदेश जारी

जिसके चलते गृह विभाग ने गृहमंत्रालय को पत्र लिखकर इसका स्पष्टीकरण मांगा था. जिसके बाद गृहमंत्रालय ने आयुध नियम 2016 के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

राजस्थान: आवंटित हो सकते हैं गैर सर्विस पैटर्न हथियार, आदेश जारी
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राज्य में अब सैन्य अधिकारियों सहित विशिष्ट श्रेणी के व्यक्तियों को आवंटित गैर सर्विस पैटर्न अर्थात एनएसपी हथियार के लाइसेंस जारी और रिन्यूअल हो सकेंगे. गृह विभाग ने इसके लिए सभी जिला कलेक्टरों और जयपुर-जोधपुर कमिश्नर को आदेश जारी कर दिए हैं.

बता दें, हथियारों की श्रेणियों में अवर्जित बोर के एनएसपी हथियार आर्म्स डीलर्स की ओर से नहीं बेचे जाते हैं. एनएसपी हथियार केवल केंद्रीय आयुध डिपो जबलपुर की आवंटन कमेटी की ओर से कुछ विशिष्ट श्रेणी के व्यक्तियों को ही आवंटित किए जाते हैं. राज्य में ऐसे हथियारों का न तो लाइसेंस दिया जा रहा था और न ही उनका नवीनीकरण किया जा रहा था. जिला कलेक्टर और जयपुर-जोधपुर पुलिस कमिश्नर इसके लिए गृह विभाग से मार्ग दर्शन मांग रहे थे. जिसके चलते गृह विभाग ने गृहमंत्रालय को पत्र लिखकर इसका स्पष्टीकरण मांगा था. जिसके बाद गृहमंत्रालय ने आयुध नियम 2016 के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

दरअसल, गृह मंत्रालय ने अग्न्यायुधों की श्रेणी में प्रोहीबिटेड, रेस्ट्रीक्टेड और परमिसीबल हथियार शामिल किए गए हैं. गृहमंत्रालय की ओर से आयुध नियम 2016 में नए प्रावधान शामिल किए गए. नए प्रावधानों में सभी प्राचीन, पुराने और वर्तमान और भविष्य के आर्म्स को समायोजित कर सूची को विस्तृत बनाया गया. तकनीकी, कार्यात्मक और भौतिक मापदंडों के आधार पर शस्त्र की श्रेणी निर्धारित करने से पहले उनका सख्ती से जांच परीक्षण किया जाएगा. मंत्रालय ने कहा है कि एनएसपी हथियार भी किसी अन्य अग्न्यायुधों से अलग नहीं है, ऐसे मे उनका निबटारा भी आयुध नियमों के अनुसार किया जाना चाहिए.