close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: विधानसभा में बोले परसादी मीणा, फेक्ट्रियों से प्रदूषण की शिकायत पर की जाएगी जांच

पूर्ववर्ती सरकार के समय में ही मादडी इंडस्ट्रियल क्षेत्र में फैक्ट्रियां बंद की गई थीं और सिस्टम को ठीक करने, मानक सही पाए जाने व रिपोर्ट सही आने पर पुनः चालू कर दी गईं. 

राजस्थान: विधानसभा में बोले परसादी मीणा, फेक्ट्रियों से प्रदूषण की शिकायत पर की जाएगी जांच
परसादी लाल ने प्रश्नकाल के दौरान विधायकों द्वारा पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दिया.

जयपुर: उद्योग मंत्री परसादी लाल ने सोमवार को विधानसभा में बताया कि उदयपुर के मादड़ी इंडस्ट्रियल क्षेत्र में फैक्ट्रियों से प्रदूषण की शिकायत आने पर जांच करवाई जाएगी. अगर कहीं पर कोई फैक्ट्री प्रदूषण कर रही है तो उद्योग विभाग द्वारा दोबारा सभी फैक्ट्रियों की जांच करवा ली जाएगी. परसादी लाल ने प्रश्नकाल के दौरान विधायकों द्वारा पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब देते हुए बताया कि वर्तमान सरकार ने मादड़ी इंडस्ट्रियल क्षेत्र में न तो किसी उद्योग को बंद किया है और न ही शुरू किया है. 

दो फैक्ट्रियों को बंद कर वापस चालू किया गया
पूर्ववर्ती सरकार के समय में ही मादड़ी इंडस्ट्रियल क्षेत्र में फैक्ट्रियां बंद की गई थीं और सिस्टम को ठीक करने, मानक सही पाए जाने व रिपोर्ट सही आने पर पुनः चालू कर दी गईं. मादड़ी इंडस्ट्रियल क्षेत्र में मैसर्स नाहर मिनरल्स एंड केमिकल 12 अप्रेल 2016 को बंद की गई और मानक सही पाए जाने पर और रिपोर्ट सही आने पर 31 जुलाई 2018 को शुरू की गई. मैसर्स महालक्ष्मी केमिकल्स 17 जून 2016 को बंद की गई और मानक सही पाए जाने पर और रिपोर्ट सही आने पर 7 अगस्त 2018 को शुरू की गई. 

मादड़ी में 30 कैमिकल उद्योग
इससे पहले विधायक फूल सिंह मीणा के मूल प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि मादरी औद्योगिक क्षेत्र, उदयपुर में विभिन्नस प्रकार के कुल 30 केमिकल उद्योग चल रहे हैं. मैसर्स कोरोमंडल इंटरनेशनल लिमिटेड (पूर्व में मैसर्स लिबर्टी फॉस्फेट) के नाम से खाद बनाने का उद्योग F-227, मादरी औद्योगिक क्षेत्र, उदयपुर में कार्यरत है. राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल द्वारा दिनांक 11 फरवरी 2019 एवं 13 फरवरी 2019 को की गई जांच के दौरान उद्योग से उत्सर्जित वायु प्रदूषक तत्व निर्धारित मानकों के अनुरूप पाए गए हैं. उद्योग से उत्सर्जित होने वाले प्रदूषक तत्वों की मॉनिटरिंग के लिए ऑनलाइन सेंसर लगे हैं. 

फसल और सब्जियों की उत्पादकता सामन्य
उन्होंने बताया कि मक्का, ज्वार, चरी और कुछ क्षेत्र में सब्जियां तथा रबी मौसम में गेहूं, जौ और कुछ क्षेत्र में रिजका आदि फसलें की जाती हैं. इन बोई गई फसलों की वृद्धि एवं उत्पादकता सामान्य पाई गई है. उन्होंने बताया कि राजस्थातन राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल द्वारा बीते 3 वर्षों में मादरी औद्योगिक क्षेत्र, उदयपुर में 12 केमिकल उद्योगों के विरूद्ध बंद करने हेतु निर्देश जारी किए गए हैं.