close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: वरिष्ठ नागरिकों को राज्य सरकार का तोहफा, काठमांडू तक कराएगी तीर्थयात्रा

हवाई यात्रा के दौरान 40 यात्रियों पर एक अनुरक्षक जाएगा. 40 से 80 यात्रियों के लिए 2 और 80 से अधिक यात्रियों के लिए तीन अनुरक्षक जाएंगे. 

राजस्थान: वरिष्ठ नागरिकों को राज्य सरकार का तोहफा, काठमांडू तक कराएगी तीर्थयात्रा

जयपुर: राजस्थान के वरिष्ठ नागरिक अब वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत विदेश भी जा सकेंगे. हवाई मार्ग से वरिष्ठ नागरिक नेपाल में काठमांडू, पशुपतिनाथ तक जा सकेंगे. देवस्थान मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने पर्यटन भवन में राज्य स्तरीय समिति की बैठक में इस निर्णय पर मुहर लगाई. इस वर्ष 5,000 यात्री हवाई मार्ग से और 5,000 यात्री रेल मार्ग से तीर्थयात्रा पर जाएंगे. रेल यात्रा में दो और हवाई यात्रा में तीन नए सर्किट जोड़े गए हैं. देहरादून-हरिद्वार-ऋषिकेश सर्किट में देहरादून तक हवाई जहाज द्वारा और वहां से आगे बसों के माध्यम से यात्रियों को ले जाया जाएगा.

गंगासागर-दक्षिणेश्वर काली-वेलूर मठ- कोलकाता सर्किट में कोलकाता तक यात्रियों को हवाई जहाज से और वहां से आगे बस के माध्यम से तीर्थ स्थानों तक ले जाया जाएगा. पशुपतिनाथ काठमांडू सर्किट में काठमांडू तक यात्री हवाई जहाज से जाएंगे और वहां से आगे पशुपतिनाथ तक बस के माध्यम से ले जाया जाएगा. दरअसल, इससे पूर्व हवाई यात्रा में 6 सर्किट शामिल थे जिन्हें बढ़ाकर 9 कर दिया गया है. उधर प्रस्तावित वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना में रेल यात्रा में दो नए सर्किट जोड़े गए हैं. जिसमें श्री गोवर्धन-नंदगांव-बरसाना-मथुरा-वृंदावन सर्किट और अजमेर (मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह )दिल्ली (निजामुद्दीन औलिया की दरगाह) और फतेहपुर सीकरी आगरा (शेख सलीम चिश्ती की दरगाह) सर्किट शामिल हैं. 

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना में रेल से जाने वाले 65 वर्ष के नागरिक भी अब अपने साथ सहायक ले जा सकेंगे. .मुख्य यात्री के साथ रेल यात्रा में जाने वाले पुरुष सहायक की आयु सीमा न्यूनतम 21 वर्ष से 50 वर्ष के बीच रखी गई है. बैठक में निर्णय लिया गया कि योजना के तहत हवाई यात्रा और रेल यात्रा में पत्रकारों के लिए पांच-पांच प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी लेकिन उन्हें 60 साल या उससे अधिक की आयु का होना जरूरी होगा. 

हवाई यात्रा के दौरान 40 यात्रियों पर एक अनुरक्षक जाएगा. 40 से 80 यात्रियों के लिए 2 और 80 से अधिक यात्रियों के लिए तीन अनुरक्षक जाएंगे. बैठक में निर्णय लिया गया की रिटायर्ड सरकारी कार्मिक भी अब यात्रा में जा सकेंगे. गौरतलब है कि इससे पूर्व रिटायर्ड सरकारी कार्मिकों की यात्रा में जाने पर रोक थी. यात्रा पर जाने वाले यात्रियों की सुविधाओं के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जाने के निर्णय पर भी बैठक में मुहर लगी.

यात्रा से जुड़े सभी अधिकारी एवं यात्रियों के साथ गए हुए अधिकारी-कार्मिक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से जुड़े रहेंगे ताकि सभी के बीच समन्वय में बना रहे. वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के आवेदन 5 जुलाई से शुरू होंगे. यह आवेदन ऑनलाइन होंगे और जिला स्तर पर किए जा सकेंगे.