अलवर गैंगरेप मामले में संभागीय आयुक्त ने की जनसुनवाई, 20 मई को पेश करेंगे रिपोर्ट

दुष्कर्म पीड़िता के वीडियो भी वायरल कर दिए. इस मामले में सरकार की काफी किरकिरी हुई और भाजपा सहित विभिन्न संगठनों द्वारा इस मुद्दे को लेकर पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन हुए. 

अलवर गैंगरेप मामले में संभागीय आयुक्त ने की जनसुनवाई, 20 मई को पेश करेंगे रिपोर्ट

अलवर: थानागाजी सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस प्रशासन की लापरवाही सहित विभिन्न मुद्दों पर जांच कर रहे संभागीय आयुक्त के सी वर्मा ने शुक्रवार को अलवर के सर्किट हाइस में एक जन सुनवाई रखी. जिसमे इस प्रकरण से सम्बंधित लोगों को अपनी बात रखने का मौका दिया गया. साथ ही विभिन्न संस्था, संगठनों से भी विचार विमर्श कर इस केस की गहराई को समझने का प्रयास किया गया. 

राज्य सरकार ने 30 अप्रैल को दुष्कर्म का मामला पुलिस के संज्ञान में आने के बाद 2 तारीख को रिपोर्ट दर्ज किए जाने और 6 मई को मतदान के दिन तक इस पर कोई कार्रवाई ना करने को पुलिस की बड़ी लापरवाही माना है. वहीं, इसी दौरान आरोपियों ने दुष्कर्म पीड़िता के वीडियो भी वायरल कर दिए. इस मामले में सरकार की काफी किरकिरी हुई और भाजपा सहित विभिन्न संगठनों द्वारा इस मुद्दे को लेकर पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन हुए. 

जिसके चलते राज्य सरकार ने तत्काल कार्रवाई करते हुए थानागाजी एसएचओ को सस्पेंड किया. साथ ही अलवर एसपी को एपीओ कर दिया गया. इसी के साथ संभागीय आयुक्त के सी वर्मा को पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी ताकि इस मामले में हुई देरी पर जिम्मेदार अधिकारीयों का पता लग सके. 

संभागीय आयुक्त पिछले कई दिनों से लगातार थानागाजी में डेरा डाले हुए हैं और इस से सम्बंधित एसएचओ व एसपी के बयानों सहित 16 और 17 तारीख को एक जन सुनवाई के मार्फत आमजन से भी इस सम्बन्ध में चर्चा कर रहे हैं. आज सर्किट हाउस में इसी सिलसिले में सुबह 10 बजे से 5 बजे तक संभागीय आयुक्त मुलाकात कर रहे हैं. जिसकी रिपोर्ट 20 मई को गृह मंत्रालय को पेश की जानी है.