close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोर्ट या आपसी सहमति से सुलझाया जाए बाबरी मस्जिद मामला: शिया धर्मगुरू कल्बे जव्वाद

उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद की समस्या का समाधान दोनों समुदाय की आपसी सहमति से हो तो अच्छी बात है.

कोर्ट या आपसी सहमति से सुलझाया जाए बाबरी मस्जिद मामला: शिया धर्मगुरू कल्बे जव्वाद
उन्होंने कहा कि इस्लाम में आतंक की कोई जगह नहीं है. (फोटो साभार: ANI)

अजमेर: शिया समुदाय के मौलाना कल्बे जव्वाद ने देश में मुसलमानों की खराब स्थिति के लिए नफरत पैदा करने वाले मुस्लिम लीडर और कुछ मौलानाओं पर लगाया. उन्होंने कहा कि यह नेता मुसलमानों को फिरकों में बांट कर नफरत फैला रहे हैं. मौलाना जव्वाद ने शनिवार को अजमेर शरीफ में ख्वाजा मोउद्दीन चिश्ती की दरगाह हाजरी के बाद मीडिया से बातचीत में यह बातें कही.

उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद की समस्या का समाधान दोनों समुदाय की आपसी सहमति से होता है तो अच्छी बात है, नहीं तो फिर कोर्ट का जो फैसला आये उसे सब को स्वीकारना चाहिए.

उन्होंने यह भी कहा कि इस्लाम में आतंक की कोई जगह नहीं है. दूनिया के कई हिस्सों में इस्लाम के दुश्मन मुसलमानों के बीच विवाद पैदा कर रहे हैं. ऐसे हालात अब देश में भी आ रहे है. इसलिए सारे मुसलमानों को एकजूट रहना चाहिए.

उन्होंने बताया कि उन्होंने देश में शिक्षा, नौकरी, व्यापार और भारतीय सेना फौज में मुस्लिम की घटती संख्या को देखते हुए पूरे देश में एक मुहीम भी चला रखी है. इस मुहीम के दौरान देश के धार्मिक स्थलों पर जाकर राष्ट्रहित में कार्य करने की अपील देशवासियों से कर रहे हैं. 

इस दौरान अजमेर शरीफ दरगाह के सदर ने मौलाना कल्बे जव्वाद का स्वागत किया और दस्तारबंदी भेंट की.