close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में लंबित भर्तियों को लेकर छात्रों ने की सचिन पायलट से मुलाकात

रीट भर्ती 2018 लेवल-2 की तीसरी सूची को लेकर बेरोजगारों का कहना है कि दो सूचियां जारी होने के बाद भी अभी तक करीब साढ़े तीन हजार से ज्यादा पद खाली पड़े हैं

राजस्थान में लंबित भर्तियों को लेकर छात्रों ने की सचिन पायलट से मुलाकात
प्रदेश भर के करीब साढ़े तीन हजार चयनित अभ्यर्थी नियुक्ति की आस देख रहे हैं.

जयपुर: लम्बित भर्तियों को पूरा करने के वादे के साथ कांग्रेस सरकार सत्ता में आई. कांग्रेस को सत्ता में आने के साथ ही करीब 1 लाख बेरोजगारों को उम्मीद जगी की उनकी नियुक्ति का रास्ता जल्द साफ होगा, लेकिन करीब 7 महीने का समय बीत जाने के बाद भी अभी तक सिर्फ दो भर्तियां का ही रास्ता साफ हुआ है. अभी भी करीब एक दर्जन से ज्यादा भर्तियों के चयनित अभ्यर्थी सरकार के मंत्रियों के चक्कर काट रहे हैं. इसी कड़ी में प्रदेश भर के सैंकड़ों बेरोजगार लम्बित भर्तियों को पूरा करने की मांग को लेकर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के आवास पर पहुंचे और सचिन पायलट से मुलाकात कर भर्तियों को जल्द पूरा करने की मांग का ज्ञापन सौंपा.

चाहे पंचायती राज एलडीसी भर्ती 2013 की नियुक्ति हो या फिर रीट शिक्षक भर्ती 2018 लेवल-2 की तीसरी सूची जारी करने की मांग हो, लम्बे समय से इन मांगों को लेकर सरकार सिर्फ आश्वासन दे रही है.ये भर्तियां हैं की पूरा होने का नाम ही नहीं ले रही है. रीट भर्ती 2018 लेवल-2 की तीसरी सूची को लेकर बेरोजगारों का कहना है कि दो सूचियां जारी होने के बाद भी अभी तक करीब साढ़े तीन हजार से ज्यादा पद खाली पड़े हैं, लेकिन सरकार अब तीसरी सूची जारी नहीं कर रही है. ऐसे में प्रदेश भर के करीब साढ़े तीन हजार चयनित अभ्यर्थी नियुक्ति की आस देख रहे हैं.

पिछली गहलोत सरकार के समय वर्ष 2013 में पंचायती राज विभाग में एलडीसी के 10 हजार पदों पर भर्ती निकाली गई थी और 6 साल पूरा होने के बाद भी आज तक इस भर्ती के चयनित नियुक्ति की आस लगाए बैठे हैं. कांग्रेस के 2018 में सत्ता में आने के साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने भर्ती को पूरा करने की घोषणा की थी. इसको लेकर अधिकारियों को आदेश भी दिए थे, लेकिन अब इस भर्ती में पेंच फंसता हुआ नजर आ रहा है. भर्ती से फिर नये सिरे से भरने की योजना बनाई जा रही है. जिसके बाद सैंकड़ों बेरोजगारों के सपने टूटते हुए नजर आ रहे हैं.
 
लम्बित भर्तियों को पूरा करने के लिए लम्बे समय से संघर्ष कर रहे बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष ने आज उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से मुलाकात कर लम्बित भर्तियों को पूरा करने साथ ही नई भर्तियां निकालने की मांग की. सचिन पायलट से मुलाकात करने के बाद उपेन यादव ने बताया कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने बेरोजगारों के लिए कई वादे किए थे. उपेन यादव ने बताया की उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को एलडीसी भर्ती 2018,आरपीएससी की हैड मास्टर भर्ती, वरिष्ठ अध्यापक भर्ती, एसआई भर्ती, कृषि पर्यवेक्षक भर्ती, एनटीटी भर्ती, प्रयोगशाला सहायक, हैल्पर-2 सहित अन्य लम्बित भर्तियों को पूरा करने की मांग की है. सचिन पायलट ने सकारात्मक आश्वासन दिया है.

तो वहीं दूसरी ओर नरेगा में वेयरफुट टेक्नीशियन इंजीनियर को लेकर एमओआरडी की गाइड लाइन के अनुसार पूरे 30 दिन का संविदा पर रोजगार देना है. पूरे देश में पूरे 30 दिन का रोजगार दिया जा रहा है, लेकिन सिर्फ राजस्थान में ही महज 14 दिन का रोजगार मिल रहा है. साथ ही 8 से 10 महीनों तक वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है. ऐसे में सरकार को कार्ययोजना बनाकर इन बेरोजगारों की ओर भी देखना होगा.