राजस्थान: प्रत्येक जिले में ग्राम सेवा सहकारी समितियों में खुलेंगे सुपर स्टोर

इन समितियों का चयन उपलब्ध संसाधन और क्षेत्र की मांग के आधार पर किया जाएगा.

राजस्थान: प्रत्येक जिले में ग्राम सेवा सहकारी समितियों में खुलेंगे सुपर स्टोर
हर जिले में 10 प्रतिशत ग्राम सहकारी समितियों में सुपर स्टोर खोलने की योजना है.

आशीष चौहान,जयपुर: प्रदेश में सहकारिता के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर उच्च गुणवत्ता की ब्राण्डेड उत्पादों और सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी. इसके लिये पायलट परियोजना के आधार पर प्रत्येक जिले में 10 प्रतिशत ग्राम सेवा सहकारी समितियों में सुपर स्टोर खोले जायेंगे. इन समितियों का चयन उपलब्ध संसाधन और क्षेत्र की मांग के आधार पर किया जाएगा.

इस संबंध में राज्य के सहकारिता मंत्री उदयलाल आजंना ने बताया कि राज्य सरकार का उद्देश्य प्रदेश में सहकारी संस्थानों को मजबूती प्रदान करना है, ताकि सरकार की योजनाओं को पारदर्शी ढंग से लागू किया जा सके. आमजन के उपयोग में आने वाले उत्पादों और सेवाओं की लागत को कम किया जा सके. 

सहकारी संस्थाओं को मजबूत करने के लिए प्रयास तेज

उन्होंने कहा, ''सहकारी संस्थाओं को अपने व्यवसाय का विविधीकरण करना चाहिये ताकि ग्रामीण स्तर पर बडे पैमाने पर रोजगार का सृजन हो सके. प्रदेश में प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम सेवा सहकारी समिति की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिये सभी स्तर से प्रयास किये जाएंगे.''

आमजन का हो सहकारिता से जुड़ाव

उन्होंने यह भी कहा, ''आमजन का सहकारिता से जुड़ाव को सुदृढ करने के लिये हमें सहकारिता के माध्यम से उनकी आवश्यकता के अनुसार सेवाओं को उपलब्ध कराना होगा. ग्राम सेवा सहकारी समितियों का कस्टम हायरिंग सेंटर के रूप में डेवलप करे, ताकि किसानों की कृषि लागत कम होने के साथ-साथ सहकारी संस्था के लाभ में वृद्धि हो.''

फल-सब्जियों की बिक्री की जाएगी सुनिश्चित

इसके अलावा राज्य सरकार क्रय-विक्रय सहकारी समितियों के माध्यम से फल-सब्जी के विक्रय का काम शुरू करने जा रही है. जिससे किसानों के प्रत्यक्ष लाभ में बढ़ोतरी हो सके. इसके लिए राजफैड द्वारा उत्पादित उच्च गुणवता वाले पशुआहार को उपलब्ध कराने के लिए रणनीति तैयार की जा रही है. 

सामंजस्य को किया जाएगा मजबूत

उन्होंने बताया, '' पशुआहार की गुणवत्ता अच्छी है, लेकिन विपणन की रणनीति सही नहीं होने के कारण उसकी किसानों तक पहुंच नहीं बन पा रही है. सहकारी क्षेत्र के उत्पाद को एण्ड यूजर तक पहुंचाने के लिये सहकारी संस्थाओं में कड़ी बन्धन को मजबूत किया जाएगा.''

आपको बता दें कि, राज्य में गहलोत सरकार के गठन के बाद सहकारी संस्थाओं को मजबूत करने के लिए राज्य सरकार ने प्रयास तेज कर दिया है.