रामदास अठावले ने ZEE News के कैंपेन की तारीफ की, कहा- हिंसा के दौर में ज़ी न्यूज़ की बेहतरीन पहल

 नागरिकता कानून के समर्थन में ज़ी न्यूज़ ने जो MISSED CALL अभियान शुरू किया था, उन मिस्ड कॉल की संख्या अब 1 करोड़ के पार पहुँच गई है. 

रामदास अठावले ने ZEE News के कैंपेन की तारीफ की, कहा- हिंसा के दौर में ज़ी न्यूज़ की बेहतरीन पहल
. नागरिकता कानून के समर्थन में ज़ी न्यूज़ ने MISSED CALL अभियान शुरू किया था...फाइल फोटो...

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act- CAA) को लेकर देशभर में ज़ी न्यूज (Zee News) की तरफ से चलाए जा रहे कैंपेन की तारीफ की है. अठावले ने कहा कि,  ज़ी न्यूज (Zee News) का यह अच्छा इनिशिएटिव है. यह कैंपेन देश में बिना हिंसा के सबसे बड़े आंदोलन के रूप में निखरकर आया है. ZEE न्यूज ने सभी को अपने मन की भावना को कहने का मंच दिया है. इसके लिए ज़ी न्यूज़ का हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं. देश में शांति बरकरार रखने के लिए इस कैंपेन का जरूर उपयोग होगा.

लोगों को अपने ऑपिनियन रखने का अधिकार है, लोग विरोध क्यों कर रहे हैं और सपोर्ट क्यों कर रहे हैं इसे व्यक्त करने का उनका अधिकार है. ZEE न्यूज का यह अच्छा कैंपेन है. ज़ी न्यूज ने अच्छा निर्णय लिया है देश अशांत है, अस्थिर है, जगह-जगह पर आंदोलन हो रहा है. सरकारी प्रॉपर्टी का नुकसान हो रहा है.

यह भी देखें:-

ऐसे वक्त पर ज़ी न्यूज़ ने कैंपेन शुरू किया है, लोगों के लक्ष्य को शांति के दिशा से लाने के लिए अच्छी कोशिश की है, ज़ी न्यूज़ के इस कैंपेन का आभारी हूं. साथ ही अठावले CAA विषय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए एक कविता भी लिखी है जो इस प्रकार है:-

CAA के सपोर्ट में करोड़ों लोग मोदीजी के बन गए है फैन
क्योंकि मोदी जी बढ़ा रहे हैं भारत की शान,

मुस्लिम समाज का मोदी जी बढ़ा रहे हैं सम्मान.
इसीलिए मुस्लिम समाज को मोदीजी की भूमिका के तरफ देना चाहिए ध्यान,

आप जानते हैं, कांग्रेसवाले मुस्लिमों को भड़काने का कर रहे हैं काम,
काँग्रेसवाले मुस्लिम को भड़काने का कर रहे है काम, उसका उनको बिल्कुल नही मिलेगा दाम.

आपको बता दें कि ZEE NEWS के नागरिकता अभियान ने इतिहास रच दिया है. नागरिकता कानून के समर्थन में ज़ी न्यूज़ ने जो MISSED CALL अभियान शुरू किया था, उन मिस्ड कॉल की संख्या अब 1 करोड़ के पार पहुँच गई है. 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' ने हमारे अभियान को अफ़वाह के धुंध से ढकने की बहुत कोशिश की. ZEE NEWS के खिलाफ सड़कों पर नारे भी लगाए. ट्विटर से लेकर फेसबुक पर ZEE NEWS के बारे में दुष्प्रचार किया लेकिन हम झुके नहीं. बढ़ते रहे और आज हम एक से एक करोड़ हो गए. इस समर्थन के लिए देश की जनता आपका अभिनंदन है.