आर्थि‍क आरक्षण बि‍ल पर रविशंकर प्रसाद ने कहा, ये पहला छक्‍का नहीं है ऐसे बहुत से छक्‍के आएंगे

कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, 2010 में आपको किसने रोका था. इशारों इशारों में रविशंकर ने सरकार की ओर से आने वाले कुछ ऐसे ही फैसलों की ओर इशारा कर दिया.

आर्थि‍क आरक्षण बि‍ल पर रविशंकर प्रसाद ने कहा, ये पहला छक्‍का नहीं है ऐसे बहुत से छक्‍के आएंगे

नई दिल्‍ली : आर्थ‍िक आरक्षण पर संविधान संशोधन विधेयक लोकसभा में पारित किया जा चुका है. बुधवार को अब इस पर राज्‍यसभा में भी बहस हुई. विपक्ष मे आरजेडी और डीएमके को छोड़कर ज्‍यादातर दलों ने इसका समर्थन किया. राज्‍यसभा में ज्‍यादातर विपक्षी दलों के सवालों का जवाब केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दिया. उन्‍होंने इसके लिए कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, 2010 में आपको किसने रोका था. इशारों इशारों में रविशंकर ने सरकार की ओर से आने वाले कुछ ऐसे ही फैसलों की ओर इशारा कर दिया.

उन्‍होंने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए कहा, आप लोगों ने समर्थन तो दिया, लेकिन उसमें किंतु परंतु लगा दिए. आप इसे लाने के समय पर सवाल उठा रहे हैं. तो मैं आपको बता दूं कि क्रिकेट में छक्‍का स्‍लॉग ओवर में लगता है. जब मैच क्‍लोज होता है तब लगता है. अगर आपको इसी पर परेशानी है तो ये पहला छक्‍का नहीं है. और भी छक्‍के आने वाले हैं.

 

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, अगड़ों में भी गरीबी हैं. वहां भी कई लोग मजदूरी करते हैं. उन्‍होंने कहा, कई लोग सवाल उठा रहे हैं कि कोर्ट में बिल गिर जाएगा. मैं उन्‍हें बताना चाहता हूं कि संविधान की मूल भावना को बदलने के सिवाए उसमें कुछ भी बदलाव संसद कर सकती है.
रविशंकर प्रसाद ने कहा, हम मूल आरक्षण में बदलाव नहीं कर रहे हैं. ये आरक्षण केंद्र ही नहीं प्रदेश में भी लागू होगा. उन्‍होंने कहा, 2010 में कांग्रेस के पास ये मौका था, लेकिन वह इसे नहीं लाए. तब वह इसे क्‍यों नहीं लाए.

रविशंकर प्रसाद ने कहा, उस समय सरकार के पास तो पूरी र‍िपोर्ट है, फ‍िर वह क्‍यों नहीं लाए. अब आप हमारे ऊपर सवाल उठा रहे हैं.