close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आदित्य ठाकरे 3 अक्टूबर को भरेंगे पर्चा, मुंबई की वर्ली सीट से दाखिल कर सकते हैं नामांकन

 वर्ली विधानसभा सीट पर शिवसेना के सुनील शिंदे मौजूदा विधायक हैं, जबकि उनके विरोधी रह चुके सचिन अहिर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी छोड़कर शिवसेना में शामिल हो ही चुके हैं.

आदित्य ठाकरे 3 अक्टूबर को भरेंगे पर्चा, मुंबई की वर्ली सीट से दाखिल कर सकते हैं नामांकन
फाइल फोटो- @AUThackeray

मुंबईः महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव 2019 ((Maharashtra Assembly Elections 2019) में पहली ठाकरे परिवार से कोई शख्स चुनावी राजनीति कदम रखने जा रहा है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे मुंबई की वर्ली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की खबर है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि 29 वर्षीय आदित्य ठाकरे 3 अक्टूबर को नामांकन दाखिल कर सकते हैं. पार्टी के 53 साल के इतिहास में यह पहली बार होगा कि चुनाव में शिवसेना को किसी 'ठाकरे' का चेहरा मिलेगा. ठाकरे परिवार से कोई भी चुनाव लड़ने वाले आदित्य ठाकरे पहले सदस्य होंगे. वर्तमान में वह शिवसेना की युवा शाखा, युवा सेना के प्रमुख हैं.

मुंबई की वर्ली विधानसभा सीट से आदित्य की उम्मीदवारी की अधिकारिक घोषणा आज की जा सकती है. बता दें कि महाराष्ट्र में नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 4 अक्तूबर है. इससे पहले बाल ठाकरे, उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे किसी ने भी चुनाव नहीं लड़ा है.

वर्ली विधानसभा सीट
आदित्य ठाकरे का निवास स्थान 'मातोश्री' बांद्रा ईस्ट विधानसभा चुनाव क्षेत्र के अंतर्गत आता है. शिवसेना का मुख्य कार्यालय 'सेना भवन' दादर इलाके में है. बावजूद इसके शिवसेना ने अपने सबसे 'ताकतवर' उम्मीदवार को सबसे 'सेफ' सीट पर उतारने का फैसला किया है. वर्ली विधानसभा सीट पर शिवसेना के सुनील शिंदे मौजूदा विधायक हैं, जबकि उनके विरोधी रह चुके सचिन अहिर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी छोड़कर शिवसेना में शामिल हो ही चुके हैं.

बता दें कि की राजनीति में पिछले पांच दशक से ठाकरे परिवार का किसी न किसी न किसी रूप में प्रभाव रहा है. 1960 के दशक में शिवसेना की स्‍थापना के साथ बाला साहेब ठाकरे का सियासी रसूख महाराष्‍ट्र की राजनीति में बढ़ता गया. उनके बाद कमान बेटे उद्धव ठाकरे ने संभाली लेकिन सत्‍ता को रिमोट कंट्रोल की तरह चलाने वाला ठाकरे परिवार अब पहली चुनावी दंगल (Maharashtra Assembly Elections 2019) में उतर रहा है. 

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी-शिवसेना का गठबंधन होने पर सत्‍ता में आने की स्थिति में उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री बनेंगे. इसलिए उनको डिप्टी सीएम पद के रूप में चुनावों में प्रोजेक्‍ट किया जा सकता है. सूत्रों का ये भी कहना है कि मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पहले ही आदित्य ठाकरे को उप मुख्यमंत्री बनाने की बीजेपी की तरफ से शिवसेना के सामने पेशकश कर चुके हैं.

बीजेपी चुनाव समिति की बैठक में लगी मुहर, आज हो सकता है प्रत्याशियों का ऐलान!

उन्होंने कहा कि शिवसेना का केसरिया झंडा दक्षिण मुंबई में महाराष्ट्र विधानसभा की इमारत में लहराना चाहिए. हालांकि गठबंधन को लेकर किसी भी आशंका को दूर करते हुए, ठाकरे ने कहा कि 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा से गठबंधन किया जाएगा और बहुत जल्द इसकी घोषणा की जाएगी. ठाकरे ने कहा, "अगर यह गठबंधन आगे बढ़ता है तो हम पीठ पर वार नहीं करेंगे..हम खुल कर अपनी बात रखेंगे."

शिवसेना, भाजपा और खुद के लिए 50:50 के अनुपात में सीटों का बंटवारा चाह रही है. इसके तहत दोनों पार्टियों को 135-135 सीटें मिलेंगी और 288 सदस्यीय विधानसभा में 18 सीटें छोटी पार्टियों के लिए छोड़ी जाएंगी. महाराष्ट्र विधानसभा के लिए चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे और नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे.