close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरुणाचल प्रदेश के विधायक पहुंचे मुंबई, पाठशाला में ले रहे हैं राजनीति की क्लास

अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि यह ओरियंटेशन प्रोग्राम हमारे विधायकों के लिए बेहद ही लाभदायक रहेगा.

अरुणाचल प्रदेश के विधायक पहुंचे मुंबई, पाठशाला में ले रहे हैं राजनीति की क्लास
इस ओरियंटेशन प्रोग्राम के उद्घाटन के दौरान बीजेपी के महासचिव राम माधव और राज्यसभा सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे भी मौजूद रहे.

मुंबई: अरुणाचल प्रदेश के 40 विधायक मुंबई के समीप रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी में राजनीति की पाठशाला में 3 दिन तक छात्र बनकर शिक्षा ले रहे हैं. रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी, बीजेपी की वो पाठशाला है जहां राजनीति के साथ-साथ एक बेहतर इंसान और देशहित में कार्य करने की शिक्षा प्रदान करती है. कक्षा में छात्रों की भांति बैठे यह कोई और नहीं अरुणाचल प्रदेश के नवनिर्वाचित विधायक हैं. अगर यूं कहा जाए कि अरुणाचल प्रदेश का पूरा मंत्रिमंडल ही मुंबई के समीप भयंदर में रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी में राजनीति के साथ-साथ देशहित में काम करने के लिए पाठशाला में क्लास ले रहा है तो उचित होगा. 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जन्म और बीजेपी के जरिये महज 2 सीटों से लेकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की पूरी यात्रा की सारी बारीकियों को सीखने अरुणाचल प्रदेश के नए विधायक रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी में बैठे हैं. इन विधायकों में से कई यह बात मानते हैं कि पिछली सरकार ने अरुणाचल प्रदेश के बारे में कई सारी भ्रांतियां फैलाई थी, बार-बार यह कहा गया था कि अरुणाचल के लोग अपने आपको भारतीय न मानकर चीन के ज्यादा करीब मानते हैं. अगर इन विधायकों की बात सुने तो खुले तौर पर कहते हैं कि आखिर पिछली सरकारें जिस तरह से हमें अलग-थलग रख रही थी अब वह दिन खत्म हुए हम भारत के वह सपूत हैं जो भारत की उन्नति में पूर्व की सूरज की भांति सबसे आगे आएंगे.

विधायक तामिया सोकि ने कहा कि अरुणाचल के इतिहास में यह पहली बार हुआ है बीजेपी ने पूर्ण बहुमत का सरकार बनाई है. यहां हम वह शिक्षा ले रहे हैं जो आज तक लोगों ने केवल सुनी होगी. आरएसएस के जन्म से लेकर बीजेपी के यहां तक पहुंचने की सारी कहानी हम सुन रहे हैं. इसके साथ-साथ आखिर किसी विधायक का काम क्या है किस तरीके से जनता के बीच में जाना है और जनता का काम किस तरीके से करना है यह भी हम सीख रहे हैं.

विधायक तेजरिंग ताशी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश के बारे में पहले की सरकारों के जरिये भ्रांति फैलाई गई थी कि हम अलग-थलग रहना चाहते हैं लेकिन वह सारी बातें बेबुनियाद हैं. हम भारत के उन्नति के साथ अपनी उन्नति जोड़ते हैं. हम यहां उस परिवार के हिस्से के रूप में आए हैं और जो आज देश को एक के नई ऊंचाई पर ले कर जा रहा है. अरुणाचल प्रदेश के हम सभी विधायक जनहित के कार्य को बारीकियों से सीख दे रहे हैं और केंद्र सहित प्रदेश के उन्नति में किस तरीके से काम करना चाहिए उसे भी समझ रहे हैं.

इन विधायकों के वक्तव्य से जाहिर हो जाता है कि आखिर उनके अंदर देश सर्वोपरि है इस बात को लेकर कैसा जज्बा है. भ्रष्टाचार के विरोध में पूरा प्रदेश एकजुट होकर कार्य करने के लिए आतुर है. 10 विधायकों को 3 दिनों की क्लास में संघ सहित बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता भी मार्गदर्शन करेंगे. सरकार के जरिये दी गई जिम्मेदारी और जनता का प्रतिनिधित्व किस तरीके से करना है इस बात के लिए एक विशेष कार्यशाला भी चलाई जाएगी. इन विधायकों को आखिर किसी भी समस्या को सफलतापूर्वक किस तरीके से निदान करना है इस बारे में भी जानकारी दी जाएगी. 

किसी भी विधायक के ऑफिस में आने वाला व्यक्ति कई उम्मीद को लेकर आता है और विधायक का आम जनता के साथ संबंध कैसा होना चाहिए इस बारे में ऑफिस मैनेजमेंट और पब्लिक रिलेशंस के बारे में क्लास लगाई जाएगी. खास बात है कि चुनाव से पहले ही अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी में आ चुके थे और प्रबोधिनी के मैनेजमेंट से आग्रह किया था कि चुनाव के बाद चुने हुए विधायकों को यहां लाकर ट्रेनिंग दी जाएगी. पेमा खांडू इस बात को भी बताते हैं जो पूरी तरह से आश्वस्त थे कि उनकी विधायकों की संख्या 40 से अधिक होगी.

अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि यह ओरियंटेशन प्रोग्राम हमारे विधायकों के लिए बेहद ही लाभदायक रहेगा. क्योंकि इसमें उन सारी चीजों को हम में सीखने को मिलेगा जो हमारे लिए सरकार चलाने के साथ साथ एक सफल राजनेता जो देशहित पहले सोचता है राह दिखाएगा. मुंबई में आना हमारे लिए यह भी लाभप्रद रहा जो आज तक अलग-थलग पड़ा था अरुणाचल प्रदेश उसके बारे में हम यहां लोगों से बता सकेंगे और वहां लोगों को आमंत्रित भी कर सकेंगे जिससे औद्योगिक विकास के साथ साथ पर्यटन को भी बढ़ावा मिल सकेगा.

इस ओरियंटेशन प्रोग्राम के उद्घाटन के दौरान बीजेपी के महासचिव राम माधव और राज्यसभा सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे भी मौजूद रहे. जिन्होंने विधायकों को अपने कार्य और जनता से किए गए वादे को पूरा करने के लिए लक्ष्य को प्राप्त करने की राह बताई. विरोधी दल के जरिए किए गए भ्रष्टाचार से हुए देश को नुकसान की जानकारी देते हुए ये जिक्र किया कि पूर्वोत्तर के राज्य अपनी नैसर्गिक संपदा से भरपूर होने के बाद भा उपेक्षित थे अब ऐसा संभव नहीं है.