close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दाउद इब्राहिम की खानदानी सम्पत्ति होगी नीलाम, सरकार की कड़ाई से डरा

दाऊद इब्राहिम मुंबई सहित भारत के हर अपनी संपत्ति से बेदखल हो रहा है. सरकार उसकी बची हुई संपत्तियों को नीलाम करने के लिए कीमत ही लगा रही है. जल्द ही उन संपत्तियों की नीलामी भी कर दी जाएगी.

दाउद इब्राहिम की खानदानी सम्पत्ति होगी नीलाम, सरकार की कड़ाई से डरा

मुंबई: अंडरवर्ल्ड सरगना दाउद इब्राहिम के दहशत के दिन अब खत्म होने लगे हैं. दाउद की 13 पुश्तैनी संपत्ति आम अब जल्द ही नीलाम होंगी. 2018 में दाऊद की मुंबई की संपत्तियों की नीलामी सरकार ने पहले ही कर दी है, लेकिन दाउद इब्राहिम और उसके गुर्गे पहले की भांति नीलामी में संपत्ति खरीदने वालों को डरा धमका नहीं सके. दाऊद सरकार के कड़े रवैए से खुद ही डरा सहमा है. दाऊद इब्राहिम मुंबई सहित भारत के हर अपनी संपत्ति से बेदखल हो रहा है. सरकार उसकी बची हुई संपत्तियों को नीलाम करने के लिए कीमत ही लगा रही है. जल्द ही उन संपत्तियों की नीलामी भी कर दी जाएगी.

महाराष्ट्र के रत्नागिरी इलाके की खेड़ तालुका में दाऊद इब्राहिम का पुश्तैनी घर है, जहां दाऊद इब्राहिम का परिवार कई पीढ़ियों से रहा करता था. लेकिन अब यह संपत्ति भी दाऊद के मालिकाना हक में नहीं रह जाएगी. सरकार इस संपत्ति को जल्द नीलाम करेगी. इसके वैल्यूएशन करने के लिए निश्चित किए गए टीम ने रत्नागिरी के खेड़ तालुका में तहकीकात की. इस संपत्ति के सहित दाऊद की 13 संपत्तियों का मूल्य आकलन किया गया है. दरअसल जानकारों के मुताबिक दाऊद अब बूढ़ा कमजोर होने के साथ-साथ अपनी पकड़ भी खो चुका है.

इस मामले में पूर्व मुंबई पुलिस अधिकारी मधु शिंदे का कहना है कि "सरकार की कड़ाई ने दाऊद की कमर तोड़ दी है. अब ना तो वह सर उठा सकता है ना ही उसके गुर्गे ही किसी को नुकसान पहुंचा सकते हैं. लिहाजा सरकार ने अपनी कड़ी कार्रवाई करते हुए उसकी संपत्तियों की नीलामी शुरू कर दी है." हालांकि सूत्रों के मुताबिक यह भी जानकारी सामने आई हैं कि दाऊद ने अपने सहयोगियों को यह कह रखा है कि "सरकार के किसी भी कदम में कोई रोड़ा नहीं अटकाएं. सरकार जिस तरीके से संपत्तियों को नीलाम कर रही है, उसमें किसी को कोई भी रूकावट नहीं डालनी है."

2018 में अगस्त महीने में दाऊद की संपत्तियों में होटल रेजिडेंशियल फ्लैट और कमर्शियल प्रॉपर्टी को नीलाम की गई थी. डोंगरी के मुसाफिर खाना इलाके में अमीना बिल्डिंग जो कि दाउद की एक संपत्ति थी, 3 करोड़ 51 लाख में नीलाम की गई थी. इससे पहले दाऊद की 3 संपत्तियों को सैफी बुरहानी अपलिफ्टिंग ट्रस्ट 11.50 करोड में ले चुका था. हालांकि अमीना बिल्डिंग के नीलामी में सैफी बुरहानी ट्रस्ट नीलामी में जीत नहीं सका था. दाउद की सम्पत्ति मुंबई, दमण औरंगाबाद, रत्नागिरी सहित कई इलाके में हैं.

खेड़ तालुका की सम्पत्ति दाउद का पुस्तैनी घर है, जिसमें कई कमरे सहित खाली जमीन भी है. इसे जांचने और इसका मूल्यांकन के लिए सफैमा, (स्मग्लर एण्ड फॉरेन एक्सचेंज मैनूपुलेटर एक्ट‌) के अधिकारी दल बल के साथ पहुँचे. प्रवीण गजबिए ने बताया कि -"दाऊद की 13 संपत्तियां है जिस का मूल्यांकन किया जा रहा है मूल्यांकन के बाद ही इसको नीलाम किया जाएगा."

पिछले 2 साल में दाऊद की कई संपत्तियों को नीलाम किया गया है. हालांकि लगभग डेढ़ दशक पहले दाऊद की कई संपत्तियों को नीलाम करने की कोशिश की गई थी, लेकिन दाऊद और उनके गुर्गों की जरिया डराने और धमकाने के चलते नीलामी में कोई भी हाजिर नहीं होता था. लेकिन पिछले 2 सालों में यह सारे सूरते हाल बदल चुका है. दाऊद की संपत्तियां धड़ल्ले से नीलाम हो रही हैं और उन्हें जमींदोज भी किया जा रहा है. नीलामी में लेने वाले को कहीं किसी भी तरह के ना तो फोन किए जा रहे हैं ना ही किसी तरह की तकलीफ ही दिए जा रहे हैं. इसे साफ जाहिर है कि दाऊद का खौफ अब खत्म होता नजर आ रहा है. दाऊद सरकार के कड़े रवैए से डरा सहमा है.