close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुरक्षाबलों ने यूरोपियन यूनियन के सांसदों को दी PAK की 'नापाक' हरकतों की जानकारी

यूरोपियन यूनियन के सांसदों ने इससे पहले सोमवार को पीएम मोदी और एनएसए अजित डोभाल से मुलाकात की. 

सुरक्षाबलों ने यूरोपियन यूनियन के सांसदों को दी PAK की 'नापाक' हरकतों की जानकारी
यूरोपियन यूनियन के सांसदों ने डल झील का भी लुत्फ उठाया (फोटो साभार - ANI)

श्रीनगर: यूरोपियन यूनियन (European Union) के सांसदों का एक दल जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) के हालात का जायजा लेने के लिए मंगलवार को राज्य के दौरे पर है. आर्टिकल 370 खत्‍म होने के बाद ये ये किसी विदेशी प्रतिनिधिमंडल का पहला जम्मू कश्मीर दौरा है. यूरोपियन सांसदों ने डल झील की सैर का भी आनंद लिया. 

15 कॉर्प्स हेडक्वॉर्टर पर यूरोपीय सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक में ब्रीफिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने उन्हें कश्मीर घाटी में आतंकवाद को बढ़ावा देने में पाकिस्तान की भूमिका की जानकारी दी, सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को भारत में भेजने में पाकिस्तानी सेना की भूमिका के बारे में भी बताया।

यूरोपियन यूनियन के सांसदों ने इससे पहले सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और एनएसए अजित डोभाल से मुलाकात की.  पीएम मोदी ने यूरोपियन संसद के सदस्यों से बातचीत के दौरान पाकिस्तान (Pakistan) का नाम लिए बिना उस पर निशाना साधा.

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवादियों का समर्थन या प्रायोजित करने वाले या ऐसी गतिविधियों और संगठनों का समर्थन करने वाले या नीति के रूप में आतंकवाद का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए। आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस होना चाहिए. 

यूरोपियन यूनियन ने लिया था भारत का पक्ष
बता दें जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) को खत्म होने के बाद यूरोपीय संघ (European Union) ने कश्मीर मामले पर भारत का समर्थन किया था. यूरोपीय संसद द्वारा कहा गया है कि पाकिस्तान एक संदिग्ध देश है और कश्मीर द्विपक्षीय मामला है. 

इस मौके पर यूरोपीय संघ के नेता रिजार्ड जारनेकी (Ryszard Czarnecki) ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत और जम्मू कश्मीर में होने वाली आतंकवादी घटनाओं की ओर देखना चाहिए. रिजार्ड जारनेकी ने पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि ये आतंकवादी चांद से धरती पर नहीं आते हैं. आतंकवादी पड़ोसी देश से भारत में आते हैं. उन्होंने कहा कि हमें इस मामले पर भारत का साथ देना चाहिए.  

बता दें जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) को खत्म होने के बाद यूरोपीय संघ (European Union) ने कश्मीर मामले पर भारत का समर्थन किया था. यूरोपीय संसद द्वारा कहा गया है कि पाकिस्तान एक संदिग्ध देश है और कश्मीर द्विपक्षीय मामला है. 

इस मौके पर यूरोपीय संघ के नेता रिजार्ड जारनेकी (Ryszard Czarnecki) ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत और जम्मू कश्मीर में होने वाली आतंकवादी घटनाओं की ओर देखना चाहिए. रिजार्ड जारनेकी ने पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि ये आतंकवादी चांद से धरती पर नहीं आते हैं. आतंकवादी पड़ोसी देश से भारत में आते हैं. उन्होंने कहा कि हमें इस मामले पर भारत का साथ देना चाहिए.