Zee Rozgar Samachar

Corona की मार झेल रहे इस राज्य में फैली रहस्यमयी बीमारी, डॉक्टर भी हैरान

Andhra Pradesh के पश्चिम गोदावरी जिले के एलुरु शहर में रहस्यमयी बीमारी से लोगों में डर का माहौल है. बीमारी के चपेट में आने वालों का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है. इस बीमारी का पता लगाने के लिए राज्य में पहुंची (AIIMS) की टीम पहुंची. 

Corona की मार झेल रहे इस राज्य में फैली रहस्यमयी बीमारी, डॉक्टर भी हैरान

नई दिल्लीः पहले ही कोरोना की मार झेल रहे आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में एक रहस्यमयी बीमारी (Mystery Disease) फैली है जिससे अब तक 450 से अधिक लोग संक्रमित हो गए हैं. इस बीमारी से ग्रसित लोगों के जब ब्लड सैंपल लिए गए तो उसमें सीसा और निकल जैसे धातु पाए गए. इसकी चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत भी हो गई है. इस बीमारी ने डॉक्टरों और हेल्थ एक्सपर्ट्स की चिंता बढ़ा दी है. 

आंध्र प्रदेश में पश्चिम गोदावरी जिले के एलुरु शहर में रहस्यमयी बीमारी से लोगों में डर का माहौल बना हुआ है. बीमारी के चपेट में आने वालों का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है. इस बीमारी का पता लगाने के लिए राज्य में पहुंची ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) की टीम ने बीमार लोगों के ब्लड सैंपल लिए. ब्लड सैंपल की जांच के दौरान इसमें भारी मात्रा में लेड और निकल पाया गया.

ये भी पढ़ें-Farmers Protest: किसानों के समर्थन में उतरे अन्ना हजारे, आंदोलन को लेकर कही बड़ी बात

वैज्ञानिकों ने बताया बीमारी का कारण
संयुक्त कलेक्टर गोदावरी हिमांशु शुक्ला ने बताया, 'वैज्ञानिकों को संहेद है कि ब्लड में मौजूद ये भारी धातु ही इस रहस्यमयी बीमारी का कारण हो सकते हैं. पश्चिम गोदावरी जिले के मुख्यालय विजयवाड़ा से लगभग 58 किमी उत्तर पूर्व में स्थित एलुरु धान की खेती और मत्स्य पालन का बड़ा केंद्र है.' वैज्ञानिकों ने कहा, 'अब हम उन स्रोतों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे लोगों के शरीर में इतनी भारी मात्रा में लेड और निकल आया है. हर मरीजों की पूरी हिस्ट्री की जांच कर रहे हैं.' 

ये भी पढ़ें-आज शाम किसानों से मिलेंगे गृह मंत्री Amit Shah, राकेश टिकैत बोले- मसला सुलझने की उम्मीद

बता दें कि इस बीमारी को लेकर उपराष्ट्रपति सचिवालय ने सोमवार को यह जानकारी दी थी. आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले से ताल्लुक रखने वाले उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से इस बारे में बातचीत की है. उपराष्ट्रपति सचिवालय की ओर से एक बयान में कहा गया, 'केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सूचित किया था कि एम्स के एसोसिएट प्रोफेसर (medical emergency) डॉ जमशेद नायर, एनआईवी पुणे में विषाणु विज्ञानी डॉ अविनाश देवश्तावर और राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र में उप निदेशक डॉ संकेत कुलकर्णी को एलुरु भेज रहे हैं.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.