close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: साइबर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पुलिस ने 2 को किया गिरफ्तार

राजधानी में साइबर ठगी की वारदातें सामने आने के बाद जयपुर की विशेष अपराध और साइबर थाना पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाते हुए इस कार्रवाई को अंजाम दिया.

जयपुर: साइबर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पुलिस ने 2 को किया गिरफ्तार

जयपुर: राजधानी जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के विशेष अपराध और साइबर थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए साइबर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने गिरोह के 2 सदस्यों को भी पकड़ा है. राजधानी में रोजाना एटीएम, डेबिट कार्ड और इंश्योरेंस या नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की वारदातें सामने आने के बाद जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की साइबर सैल ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शातिर साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस की माने तो नोएडा समेत अन्य राज्यों में ऐसे गिरोह सक्रिय हैं. पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी मुकेश ठाकुर और पवन खत्री हैं. 

इन आरोपियों ने पीड़िता आरूषी नरूका को बैंक में नौकरी लगाने के नाम पर करीब ढाई लाख रूपए की ठगी की थी. मामला दर्ज होने के बाद जांच में जुटी इन आरोपियों तक पहुंच गई. पुलिस ने ठगों से मोबाइल फोन, एटीएम और डेबिट कार्ड समेत कई दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

राजधानी में साइबर ठगी की वारदातें सामने आने के बाद जयपुर की विशेष अपराध और साइबर थाना पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाते हुए इस कार्रवाई को अंजाम दिया. ये गिरोह लोगों को देश के नामी बैंकों और कंपनियों में अच्छे सैलेरी पैकेज पर नौकरी लगाने के नाम पर लोगों से करोड़ों रूपए की धोखाधड़ी करते थे. इन आरोपियों द्वारा करीब तीन राज्यों में 100 से ज्यादा लोगों के साथ ठगी करने की जानकारी सामने आई है. 

पुलिस को मिले इन आरोपियों के बैंक खातों से करीब 40 लाख रूपए के ट्रांजेक्शन की भी जानकारी सामने आई है. विशेष अपराध और साइबर थाने के एसएचओ संजय आर्य ने बताया कि ये आरोपी इस गिरोह को फर्जी बैंक अकाउंट मुहैया कराते थे, जिसमें ठगी की रकम जमा की जाती थी. फिलहाल इस गिरोह से जुड़े मुख्य आरोपी की तलाश जारी है. साइबर ठगी की वारदातों को लेकर पुलिस को यह बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस गिरफ्त में आए आरोपियों से पूछताछ कर इस गिरोह के बारे में और सुराग जुटाए जा रहे हैं. माना जा रहा है कि जल्द इस मामले में कुछ और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.