close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक: कुमारस्वामी बोले, 'हम नही मिलाएंगे BJP से हाथ, विधायक न दें अफवाहों पर ध्यान'

बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री के तौर पर शुक्रवार को शपथ ली है.

कर्नाटक: कुमारस्वामी बोले, 'हम नही मिलाएंगे BJP से हाथ, विधायक न दें अफवाहों पर ध्यान'
एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि बीजेपी से हाथ मिलाने (गठबंधन) की खबरों के बारे में पता चला है और इनका कोई भी आधार नहीं है.

बेंगलुरु: कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की सरकार विधानसभा में बहुमत साबित न कर पाने के चलते हाल ही में गिर गई थी. इसके बाद कर्नाटक में बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में भगवा पार्टी ने सरकार बनाने के लिए दावा भी पेश कर दिया है. इन सबके बीच जेडीएस नेता और कर्नाटक में गठबंधन सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बड़ा बयान दिया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि बीजेपी से हाथ मिलाने (गठबंधन) की खबरों के बारे में पता चला है और इनका कोई भी आधार नहीं है. 

एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि विधायकों और पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसी अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए, जो सच्चाई से दूर हों. उन्होंने कहा कि हमने 'जनसेवा' से पार्टी बनाई है और जनता के लिेए हमारी लड़ाई आगे भी जारी रहेगी. गौरतलब है कि कर्नाटक में बीजेपी ने शुक्रवार (26 जुलाई) को सरकार बनाने का दावा पेश किया. राज्‍य में सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता बीएस येदियुरप्‍पा राज्‍यपाल वजुभाई वाला से मिलने पहुंचे थे.

 

इसके बाद बीएस येद्द‍ियुरप्‍पा ने बेंगलुरु में राजभवन में पद और गोपनीयता की शपथ ली. वह चौथी बार कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बने. इसके साथ ही कर्नाटक में लंबे समय से चले आ रहे राजनीतिक गति‍रोध पर शुक्रवार शाम को विराम लग गया. वहीं, सीएम बनते ही येदियुरप्पा एक्शन में आ गए हैं. शपथ ग्रहण के बाद येदियुरप्पा ने कैबिनेट बैठक में दो बड़े फैसले लिए. येदियुरप्पा ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान योजना के अलावा, वो लाभार्थियों को अलग से 2000 रुपये की दो किश्त भी प्रदान करेंगे. इस तरह से येदियुरप्पा ने राज्य के किसानों के लिए यह बड़ा फैसला लिया है. 

येदियुरप्पा ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "सबसे पहले मैं कारगिल के शहीदों को नमन करता हूं. मैं कर्नाटक की साढ़े छह करोड़ जनता को धन्यवाद देता हूं. अगले कुछ दिनों में हम आपको दिखाएंगे कि शासन कैसे किया जाता है. मेरा मुख्यमंत्री पद राज्य के लोगों का सम्मान है." 

येदियुरप्पा ने कहा, "लाखों कार्यकर्ताओं, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी के आशीर्वाद के साथ, मेरा उद्देश्य राज्य की खराब शासन व्यवस्था को दुरुस्त करना है. मैं राजनीतिक प्रतिशोध से काम नहीं करूंगा. राज्य के किसान परेशान हैं, वही मेरी पहली प्राथमिकता हैं. इसके अलावा मैं, बुनकरों और श्रमिकों की भी मदद करूंगा." 

राज्य के 27वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले येदियुरप्पा ने कहा कि वह सोमवार को अपना बहुमत साबित करेंगे. इसके बाद वित्त विधेयक पास करवाऊंगा. राज्य मंत्रिमंडल गठन पर येदियुरप्पा ने कहा, 'मैं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और अन्य नेताओं के साथ चर्चा करूंगा. अगर जरूरत पड़ी तो मैं दिल्ली जाऊंगा, हम बाद में फैसला लेंगे."