NEET परीक्षा आज, परीक्षा केंद्रों के लिए घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये जरूरी खबर

कोरोना वायरस के प्रसार के कारण नीट को दो बार पहले टाला जा चुका है. मूल रूप से यह परीक्षा 3 मई को होनी थी और फिर बाद में इसे 26 जुलाई के लिए आगे बढ़ा दिया गया था. अब यह परीक्षा 13 सितंबर को निर्धारित है. नीट परीक्षा के लिए 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है.

NEET परीक्षा आज, परीक्षा केंद्रों के लिए घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये जरूरी खबर
फोटो साभार-इंटरनेट

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) महामारी के मद्देनजर कड़े ऐहतियात के बीच आज यानी रविवार को मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट (NEET 2020) का आयोजन किया गया है, जिसमें 15 लाख से अधिक छात्रों के शामिल होने की उम्मीद है. 

कोरोना वायरस के प्रसार के कारण नीट को दो बार पहले टाला जा चुका है. मूल रूप से यह परीक्षा 3 मई को होनी थी और फिर बाद में इसे 26 जुलाई के लिए आगे बढ़ा दिया गया था. अब यह परीक्षा 13 सितंबर को निर्धारित है. नीट परीक्षा के लिए 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है.

कोरोना के कारण 1,297 परीक्षा केंद्र बढ़ाए गए
राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के अधिकारियों ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर परीक्षा केंद्रों की संख्या को मूल योजना के तहत 2546 केंद्रों से बढ़ाकर 3843 कर दिया गया है. वहीं प्रत्येक कमरे में उम्मीदवारों की संख्या को पूर्व निर्धारित संख्या 24 से घटाकर 12 कर दी गई है. बता दें कि राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (नीट) कलम एवं पेपर पर आधारित परीक्षा है जबकि इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेनस ऐसी नहीं थी.

संक्रमण से बचाव के लिए बनाए गए सख्त नियम
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि परीक्षा हॉल के बाद सामाजिक दूरी बनाए रखना सुनिश्चित करने के लिए प्रवेश और निकास की अलग व्यवस्था की योजना बनाई गई है. उन्होंने बताया कि हमने स्थानीय स्तर पर छात्रों के आने-जाने में मदद के संदर्भ में राज्य सरकारों को को भी लिखा है ताकि छात्र समय पर परीक्षा केंद्र पर पहुंच सकें. 

कुछ छात्रों के केंद्र में हुए बदलाव
कोविड-19 प्रतिबंधों एवं सामाजिक दूरी के अनुपालन के अनुरूप परीक्षा एजेंसी ने इस सप्ताह कुछ छात्रों के केंद्रों में बदलाव भी किया हैं. हालांकि किसी उम्मीदवार के परीक्षा शहर को नहीं बदला गया है. परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार और परीक्षा कक्ष के भीतर हर समय सैनिटाइजर उपलब्ध रहेगा और परीक्षा प्रवेश पत्र को हाथ से जांच करने की बजाए इसे बार कोड युक्त बनाया गया. इसके साथ ही कक्षा में कम संख्या में उम्मीदवार और प्रवेश एवं निकास की अलग व्यवस्था की गई है.

परीक्षा कक्ष में प्रवेश से पहले छात्रों को दिया जाएगा मास्क
अधिकारी ने बताया कि उम्मीदवारों को मास्क और सैनिटाइजर के साथ केंद्र पर आने को कहा गया. एक बार केंद्र में प्रवेश करने के बाद उन्हें परीक्षा प्राधिकार द्वारा उपलब्ध कराया गया मास्क उपयोग करना होगा. उन्होंने बताया कि प्रत्येक उम्मीदवार को प्रवेश करते समय तीन स्तर वाला मास्क उपलब्ध कराया जायेगा. 

कोलकाता मेट्रो छात्रों के लिए चलाएगा स्पेशन ट्रेन
गौरतलब है कि ओडिशा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ ने छात्रों के आने जाने की व्यवस्था करने का छात्रों को आश्वासन दिया है और आईआईटी एल्युमनी एवं छात्रों के समूह ने परीक्षा केंद्र के लिये परिवहन सुविधा प्रदान करने के लिये एक पोर्टल पेश किया है. कोलकाता मेट्रो रेलवे ने नीट देने वाले छात्रों के लिये 13 सितंबर को विशेष सेवा प्रदान करने की योजना बनायी है.

कांग्रेस लगातार कर रही थी परीक्षा स्थगित करने की मांग
कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर एक वर्ग नीट स्थगित करने की मांग करता रहा है. इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने परीक्षा स्थगित करने की याचिका खारिज करते हुए कहा था कि छात्रों का एक बहुमूल्य वर्ष बर्बाद नहीं किया जा सकता है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, द्रमुक नेता एम के स्टाालिन, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीषा सिसोदिया नीट एवं जेईई परीक्षा स्थगित करने की मांग करते रहे हैं.

ये भी देखें-