न पैसा, न सोना, ये चोर मुंबई में चुराता था 'गटर का ढक्कन', तरकीब जानकर उड़ जाएंगे होश

मुंबई में पुलिस ने दो 'ढक्कन' चोर गिरफ्तार किए गए है. वह सोना-चांदी और पैसा न चुराकर मुंबई की सड़कों पर गटर पर लगे ढक्कन को चुराते थे.

न पैसा, न सोना, ये चोर मुंबई में चुराता था 'गटर का ढक्कन', तरकीब जानकर उड़ जाएंगे होश

मुंबई: मुंबई में पुलिस ने दो 'ढक्कन' चोर गिरफ्तार किए गए है. वह सोना-चांदी और पैसा न चुराकर मुंबई की सड़कों पर गटर पर लगे ढक्कन को चुराते थे. गिरफ्तार आरोपियों के नाम अब्दुल मोहमद सिद्दीक खान और नीरज रतिलाल सिंह है. इन लोगों को जोगेश्वरी पुलिस ने ढक्कन चुराते वक़्त गिरफ्तार किया है. इन लोगों के पास से पुलिस ने चार मेन होल के ढक्कन भी बरामद किए है. ये लोग टैक्सी चलाते है. इनका तरीका ऐसा है कि सड़क के किनारे टैक्सी कुछ इस तरह खड़ी करते है कि देखने वाले को लगता है कि टैक्सी रिक्शा खराब है और उसकी मरमत हो रही है पर असल मे ये लोग टैक्सी पार्क करके उसके आड़ में मेनहोल का ढक्कन चुराते थे.

अब्दुल मोहमद सिद्दीक खान नालासोपारा का रहने वाला है और नीरज रतिलाल सिंह साकीनाका में रहता है. नीरज टैक्सी चलता है तो अब्दुल दिहाड़ी का काम करता है. इस मामले में एडिशनल कमिश्नर डॉ मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि बीएमसी बार बार शिकायत करती थी कि मेनहोल के ढक्कन चोरी होते है इसके चलते हम नज़र रखे हुए थे.

बता दें कि कि मेनहोल पर कई बार ढक्कन ना होने की वजह से बच्चे इस लेकर बड़े लोग उसमे गिरे हैं और काल के गाल में समा गए है. दो साल पहले डॉ अमरापुरकर की मौत हो गई तो वहीं एक महीने पहले डेढ़ साल का दिव्यांश सिंह मेनहोल में ढक्कन ना होने की वजह से गटर में गिरा और बह गया उसका पता आज तक नही चला.