close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोगों के लिए वरदान साबित हो रहे प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र पर कम दाम में मिलने वाली दवाएं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए एक बड़ी राहत बनकर सामने आई है.

लोगों के लिए वरदान साबित हो रहे प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र
वरदान साबित हो रहे प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र

मनीष शर्मा,हनुमानगढ़: मोदी सरकार(modi government)के पहले कार्यकाल में आमजन को सस्ती और अच्छी दवाइयां(medicine) उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र (Pradhan Mantri Jan Aushadhi Center)योजना अब मध्यम और गरीब तबके के लिए वरदान साबित हो रही है.जिला चिकित्सालय हनुमानगढ़(district hospital hanumangarh) के पास स्थित जन औषधि केंद्र से रोजाना लगभग 300 मरीज दवा लेकर जाते हैं. केंद्र पर दवा लेने आने वालों ने इस योजना के बारे में बताया कि पहले जहां दवा पर औसतन ₹5000 महीना खर्च होता था.वही जन औषधि केंद्र से उन्हीं दवाओं का खर्च 1500 से भी कम होता है. जो कि किसी भी मध्यम आय वाले परिवार के लिए एक बड़ी राहत है.यही वजह है कि मरीज और उनके परिजन केंद्र सरकार की इस अति महत्वाकांक्षी योजना को आमजन के लिए वरदान बता रहे हैं.
कई लैब टेस्ट से गुजरने के बाद सप्लाई होती है दवाएं
प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के संचालक दीपक जुलाहा ने बताया कि केंद्र के अंदर मिलने वाली सभी दवाएं कई लैब से टेस्ट होने के बाद मरीजों के लिए सप्लाई में आती है.प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र में आने वाली सभी दवाएं उच्च गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए सप्लाई की जाती है.संचालक जुलाहा ने बताया कि बाजार से मिलने वाली फार्मा कंपनी की दवाओं और जन औषधि केंद्र में उपलब्ध दवाओं की कीमत में काफी अंतर होता है.कई दवाएं तो बाजार भाव से 90 प्रतिशत तक सस्ती है.
आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के लिए फायदेमंद
प्रदेश में मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के रूप में पिछली गहलोत सरकार ने आमजन को बड़ी राहत दी थी.लेकिन इस योजना में सभी तरह की दवाओं की उपलब्धता न होने तथा सरकारी अस्पतालों तक योजना की सीमितता के चलते प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र पर कम दाम में मिलने वाली दवाएं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए एक बड़ी राहत बनकर सामने आई है.