close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: खींवसर में नारायण बेनीवाल ने पहली बार जीत की दर्ज, कांग्रेस को दी मात

राजस्थान के नागौर जिले के खींवसर विधानसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान आरएलपी प्रत्याशी नारायण बेनीवाल ने जीत दर्ज की है. आरएलपी उम्मीदवार नारायण बेनीवाल ने कांग्रेस के हरेंद्र मिर्धा को 4630 वोटों से चुनाव में हराया.

राजस्थान: खींवसर में नारायण बेनीवाल ने पहली बार जीत की दर्ज, कांग्रेस को दी मात
आरएलपी के विजेता उम्मीदवार नारायण बेनीवाल और कांग्रेस उम्मीदवार हरेंद्र मिर्धा. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: राजस्थान के नागौर जिले के खींवसर विधानसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान आरएलपी प्रत्याशी नारायण बेनीवाल ने जीत दर्ज की है. आरएलपी उम्मीदवार नारायण बेनीवाल ने कांग्रेस के हरेंद्र मिर्धा को 4630 वोटों से चुनाव में हराया.

नागौर जिले की इस सीट पर 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान नारायण बेनीवाल के भाई आरएलपी प्रमुख और हनुमान बेनीवाल ने जीत दर्ज की थी. लेकिन उनके नागौर सांसद बनने के बाद यहां उपचुनाव कराया जा रहा था. आरएलपी ने इस सीट पर बीजेपी के साथ गठबंधन किया था. नारायण बेनीवाल आरएलपी के गठन के बाद संगठन का काम देख रहे थे. उन्होंने पहली बार चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की.

हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण को टिकट मिलने के बाद लगातार सवाल के घेरे में आने के दौरान उन्होंने पार्टी के दबाव में आकर टिकट देने की बात कही थी. बेनीवाल पूर्व में बीजेपी में भी रह चुके हैं. उन्हें वसुंधरा राजे का विरोधी माना जाता है. चुनाव के पूर्व गठबंधन की बातचीत के दौरान उन्होंने पूर्व सीएम वसुंधरा राजे पर टिप्पणी की थी. जिसका बीजेपी ने विरोध भी किया था. 

पत्रकार विनय सुल्तान के अनुसार, 2008 में इस परिसीमन के बाद गठित इस सीट पर नारायण बेनीवाल के भाई हनुमान बेनीवाल चुनावी जीत हासिल कर रहे हैं. सुल्तान के अनुसार, आरएसपी अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल अपने विधानसभा क्षेत्र में आम लोगों के साथ लगातार जुड़े रहते हैं. इस कारण उनका क्षेत्र के आम लोगों के बीच काफी प्रभाव माना जाता है.