सफाई कार्य को निजी हाथों में देने वाले कानून के खिलाफ AAP का विरोध प्रदर्शन

आज आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक (Durgesh Pathak) के नेतृत्व में पार्टी के समस्त निगम पार्षदों एवं सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सिविक सेंटर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और इस काले कानून को पास न करने की मांग की.

सफाई कार्य को निजी हाथों में देने वाले कानून के खिलाफ AAP का विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) शासित एमसीडी (MCD) दिल्ली में कार्यरत तमाम सफाई कर्मचारियों (Santitation workers) को प्राइवेट कंपनियों के अधीन करने की साजिश रच रही है. जिसको लेकर आज स्टैंडिंग कमेटी के समक्ष भाजपा एक प्रस्ताव लेकर आने वाली थी. उस साजिश के विरोध में आज आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक (Durgesh Pathak) के नेतृत्व में पार्टी के समस्त निगम पार्षदों एवं सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सिविक सेंटर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और इस काले कानून को पास न करने की मांग की.

'प्राइवेट कंपनियां सफाई कर्मचारियों का शोषण करना शुरू कर देंगी'
पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा से ही दलित विरोध में रही है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आज सदन में जो प्रस्ताव लेकर आ रही है, यदि यह प्रस्ताव पास हुआ तो समस्त सफाई कर्मचारी हमेशा के लिए प्राइवेट कंपनियों के गुलाम हो जाएंगे. यदि आज यह प्रस्ताव पास हुआ तो दिल्ली के लाखों सफाई कर्मचारी जो पहले से ही बड़ी मुश्किलों से अपना और अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं, वे और मुश्किल में आ जाएंगे और देश में जो व्यवस्था अंग्रेजों के समय में थी, वही हालात फिर से आ जाएंगे. जिस प्रकार से अंग्रेज हिंदुस्तानियों का शोषण करते थे, उसी प्रकार से यह प्राइवेट कंपनियां सफाई कर्मचारियों का शोषण करना शुरू कर देंगी.

ये भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा ऐलान, बोले- हर भारतीय का होगा टीकाकरण

 

'आम आदमी पार्टी इस प्रस्ताव का पूर्ण रूप से विरोध करती है'
दुर्गेश पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी इस प्रस्ताव का पूर्ण रूप से विरोध करती है. आम आदमी पार्टी हमेशा ही दलित गरीब और पिछड़े वर्ग के हित के लिए काम करती रही है. आज भी आम आदमी पार्टी दिल्ली के तमाम सफाई कर्मचारियों के साथ खड़ी है और आज यह विरोध प्रदर्शन आम आदमी पार्टी के समस्त निगम पार्षद, कार्यकर्ता और दिल्ली के सफाई कर्मचारी मिलकर कर रहे हैं. हम सफाई कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं और उनके हक के लिए सदा उनके संघर्ष में उनके साथ खड़े रहेंगे.

ये भी देखें-