close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र: शिवसेना ने कहा, सत्ताधारी दल के मंत्री राष्ट्रपति शासन की बात करते हैं, क्या यह धमकी है?

संजय राउत ने कहा, जिस तरह के परिस्थितियां महाराष्ट्र में हैं उसमें बीजेपी और शिवसेना को छोड़कर सभी पार्टियां एक दूसरे से बात कर रही हैं. 

महाराष्ट्र: शिवसेना ने कहा, सत्ताधारी दल के मंत्री राष्ट्रपति शासन की बात करते हैं, क्या यह धमकी है?
शिवसेना नेता संजय राउत (फोटो साभार - ANI)

मुंबई: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना के बीच सरकार गठन को लेकर खींचतान बढ़ती जा रही है. शिवसेना (Shiv Sena) ने शनिवार को बीजेपी (BJP) पर निशाना साधते  हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी के नेता महाराष्ट्र (Maharashtra) में राष्ट्रपति शासन की बात करते हैं क्या इसे धमकी माना जाए. 

शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा, अगर सरकार गठन में देरी हो रही है तो और सत्ताधारी पार्टी का एक मंत्री राष्ट्रपति शासन (President's Rule) की बात करता है तो क्या यह चुने गए विधायकों को धमकी है. 

संजय राउत ने एनसीपी (ncp) चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात पर कहा, जिस तरह के परिस्थितियां महाराष्ट्र में हैं उसमें बीजेपी और शिवसेना को छोड़कर सभी पार्टियां एक दूसरे से बात कर रही हैं. उन्होंने राष्ट्रपति शासन की धमकी देकर सत्ता में आने की धमकी देने वाले को महाराष्ट्र की जनता उन्हें नहीं छोड़ेगी.

इससे पहले शुक्रवार को संजय राउत ने कहा था, 'अगर शिवसेना ने चाहे तो वह राज्य में स्थिर सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्याबल जुटा लेगी. जनता ने राज्य में 50-50 फॉर्मूले के आधार पर सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया है. उन्हें शिवसेना से सीएम चाहिए.'