अटल जी की प्रतिमा 4000 किलो वजनी, 90% तांबे से बनी; 89 लाख रुपए आई लागत

25 फुट ऊंची अष्टधातु की प्रतिमा को 65 लोगों की टीम ने छह माह में तैयार किया.

अटल जी की प्रतिमा 4000 किलो वजनी, 90% तांबे से बनी; 89 लाख रुपए आई लागत
अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा को बनाने में करीब 89 लाख रुपये लागत आई है.

लखनऊ: भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की प्रतिमा को जयपुर की कंपनी वर्क्‍स फॉर आर्टिस्ट के राजकुमार पंडित ने बनाया है. उन्होंने बताया कि इस प्रतिमा को बनाने में छह माह का समय लगा है. राजकुमार पंडित बताते हैं कि अटल बिहारी वाजपेयी की 25 फुट ऊंची कांस्य प्रतिमा को बनाने में उन्हें छह महीने का समय लगा है. इसमें उनके साथ 65 लोगों की टीम ने मिलकर काम किया.

उन्होंने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा कांस्य से बनी है, जो 25 फुट ऊंची और पांच टन वजनी है. इसे बनाने में करीब 89 लाख रुपये लागत आई है. यह प्रतिमा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर संस्कृति विभाग ने निर्मित करवाई है.

मूर्तिकार राजकुमार पंडित कहते हैं कि अब तक उन्होंने लाखों लोगों की प्रतिमाएं बनाई हैं, जिसमें सबसे ज्यादा महापुरुषों की प्रतिमाएं शामिल हैं. बिहार के मूल निवासी राजकुमार पंडित का राजस्थान के जयपुर में वर्क स्टेशन है. वहां उनकी टीम कांस्य, एल्युमिनियम और ब्रास समेत कई धातुओं की प्रतिमाएं बनाती है.

पूर्व पीएम अटल की जयंती पर लखनऊ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, किया अटल प्रतिमा का अनावरण

राजकुमार पंडित ने बताया कि उन्होंने अब तक सबसे ऊंची मूर्ति 47 फुट की बनाई है, जो महाभारत काल के योद्धा अर्जुन की है. यह मूर्ति राजस्थान के महाराजा सवाई मान सिंह के स्टेडियम में लगी है. उन्होंने अभी 20 फुट ऊंची भारत माता की मूर्ति बनाई है.