बेंगलुरू हिंसा पर मेरठ के नेता का भड़काऊ बयान, ''विवादित पोस्ट करने वाले का सिर काटा तो दूंगा 51 लाख का इनाम''

शाहजेब के इस भड़काऊ वीडियो के बाद उसके खिलाफ धार्मिक उन्माद फैलाने समेत अन्य धाराओं में दारोगा पवन मलिक की तरफ से रिपोर्ट दर्ज की गई है. सीओ बृजेश कुमार का कहना है कि जांच में वायरल वीडियो सही पाया गया तो शाहजेब की गिरफ्तारी होगी.

बेंगलुरू हिंसा पर मेरठ के नेता का भड़काऊ बयान, ''विवादित पोस्ट करने वाले का सिर काटा तो दूंगा 51 लाख का इनाम''
भड़काऊ वीडियो जारी करने वाला शाहजेब रिजवी.

मेरठ: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में धार्मिक कट्टरपंथियों की लगाई गई आग अभी ठंडी भी नहीं पड़ी थी कि उत्तर प्रदेश के मेरठ से एक और भड़काऊ बयान आ गया है.  कर्नाटक के दलित कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भांजे की फेसबुक पर लिखी गई आपत्तिजनक पोस्ट के मामले में शाहजेब रिजवी नाम के मुस्लिम नेता ने एक भड़काऊ स्कीम जारी की है. बकायदा वीडियो जारी करके शाहजेब रिजवी ने बात कही है. 

कांग्रेस विधायक के भतीजे का सिर काटने वाले को 51 लाख इनाम देने का ऐलान
खुद को समाजसेवी बताने वाला शाहजेब रिजवी वीडियो में बेंगलुरु की घटना का जिक्र करते हुए कह रहा है कि फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वाले युवक का सिर कलम करने वाले को वह 51 लाख रुपए का इनाम देगा. धनराशि की व्यवस्था के लिए वह मुस्लिम समाज के लोगों से योगदान करने के लिए भी कह रहा है. फलावदा के पंछाली पट्टी निवासी शाहजेब रिजवी ने गुरुवार को यह वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है.

बाहुबली विधायक बोले- मैं ब्राह्मण हूं इसलिए हो सकता है एनकाउंटर, अब पुलिस ने दिया करारा जवाब

अपने इस वीडियो में शाहजेब कह रहा है कि इस आपत्तिजनक पोस्ट से एक विशेष समुदाय के लोगों को ठेस पहुंची है. शाहजेब के इस भड़काऊ वीडियो के बाद उसके खिलाफ धार्मिक उन्माद फैलाने समेत अन्य धाराओं में दारोगा पवन मलिक की तरफ से रिपोर्ट दर्ज की गई है. सीओ बृजेश कुमार का कहना है कि जांच में वायरल वीडियो सही पाया गया तो शाहजेब की गिरफ्तारी होगी.

सोशल मीडिया पर पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की थी हिंसा
आपको बता दें कि कर्नाटक के दलित कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भांजे पी. नवीन ने एक समुदाय विशेष को लेकर सोशल मीडिया पर विवादित टिप्पणी की थी. जिसे लेकर बेंगलुरु में हिंसक भड़क गई थी.  कुछ लोगों के समूह ने पत्थरबाजी करने के साथ ही कांग्रेस विधायक के घर और दो पुलिस थानों में आग लगा दी थी. सार्वजनिक संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचाया गया. हिंसा रोकने की कोशिश में करीब 60 पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस फायरिंग में तीन लोगों की मौत भी हुई थी. 

WATCH LIVE TV