पर्यटन पर पड़ी कोरोना की मार, अब एक बार फिर पटरी पर लाने में जुटी त्रिवेंद्र सरकार

कोरोना काल की वजह से उत्तराखंड में टूरिज्म इंडस्ट्री पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है. जिसे फिर से खड़ा करने के लिए सरकार कारगर कदम उठा रही है.

पर्यटन पर पड़ी कोरोना की मार, अब एक बार फिर पटरी पर लाने में जुटी त्रिवेंद्र सरकार
फाइल फोटो

कुलदीप सिंह नेगी/ उत्तराखंड: कोरोना काल की वजह से उत्तराखंड में टूरिज्म इंडस्ट्री पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है. जिसे फिर से खड़ा करने के लिए सरकार कारगर कदम उठा रही है. सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि पर्यटकों के लिए उत्तराखंड को खोल दिया गया है.

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा कि शासन स्तर पर टूरिज्म इंडस्ट्री को फिर से खड़ा करने की कवायद चल रही है.  साथ ही इस बात का भी आकलन करवाया जा रहा है कि उत्तराखंड की टूरिज्म इंडस्ट्री को कोरोना काल में कितना नुकसान पहुंचा है. 

 पिछली बार के आंकड़े देखें तो, राज्य में केवल चारधाम यात्रा के दौरान ही करीब 2000 करोड़ का टर्न होता था , लेकिन कोरोना काल में एक भी रुपये का कारोबार नहीं हुआ है. इसके अलावा सरकार को न वैट मिला है और न ही अन्य राजस्व प्राप्त हुए हैं.

ये भी पढ़ें : उत्तराखंड के नए मुख्य सचिव बने IAS ओम प्रकाश, PM के ड्रीम प्रोजेक्ट्स पर होगा फोकस

आपको बता दें कि पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में टूरिज्म इंडस्ट्री को फिर से पटरी पर लाना सरकार के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहा है. यहां के लोगों के लिए केवल टूरिज्म सेक्टर ही रोजी रोटी का जरिया है, लेकिन अब सबी लोग मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. 

watch live tv: