close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शामली: फेसबुक पर की दोस्ती, मंदिर में की शादी, गायब होकर करने पहुंचा निकाह

मामले को महिला थाना इंस्पेक्टर द्वारा जांच कर 4 दिन में रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है. 

शामली: फेसबुक पर की दोस्ती, मंदिर में की शादी, गायब होकर करने पहुंचा निकाह
पुलिस का कहना है कि पीड़ित महिला के पास शादी का कोई प्रूफ नहीं है.

शामली: यूपी के शामली में एक युवती ने फेसबुक से दोस्ती और फिर शादी करके धोखा देने की शिकायत पुलिस से की है. युवती ने आरोप लगाया है कि शामली के एक अन्य धर्म के लड़के ने पहले फेसबुक पर उससे दोस्ती की. इसके बाद मंदिर में शादी करके फरार हो गया. युवती का कहना है कि युवक अब दूसरी शादी कर रहा है. पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने महिला थाना को जांच देकर कानूनी कार्यवाही करने के आदेश दिये हैं.

दरअसल, शामली जनपद में एक बार फिर सोशल मीडिया के जरिये शादी का झांसा देने का मामला सामने आया है. मामला दिल्ली का है, जहां पर मुस्लिम समाज के युवक गुलफाम मलिक की पीड़िता से फेसबुक पर दोस्ती हुई. दोस्ती प्यार में बदल गई और इसके बाद दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे. कुछ समय बाद दोनों ने मंदिर में जाकर शादी कर ली. युवती का कहना है कि वे दोनों 2016 से दिल्ली एक साथ रह रहे थे. करीब दो-तीन महीने पहले चुपचाप आरोपी युवक पीड़ित महिला को अकेला छोड़ के शामली अपने घर भाग आया.

इसके बाद वह अब पीड़ित महिला को ना अपने साथ रख रहा है और ना ही उसका हक उसको दे रहा है. पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि आरोपी गुलफाम ने अपने आप को हिंदू बताया था. धोखा देकर यहां भाग आने की वजह से पीड़िता का परिवार उसे स्वीकार नहीं कर रहा. वहीं, युवक के परिवार वाले उसकी दूसरी शादी कर रहे हैं. पीड़िता का कहना है कि वह न्याय चाहती है.

वहीं, इस मामले में पुलिस अधिकारी का कहना है कि पीड़िता ने तहरीर दी है. पीड़िता का कहना है कि उसके साथ पहले फेसबुक पर दोस्ती की और दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे. फिर शादी कर ली और अब धोखा देकर युवक वहां से भाग आया है. पीड़ित महिला के पास शादी का कोई प्रूफ नहीं है. पुलिस का कहना है कि मामले को महिला थाना इंस्पेक्टर द्वारा जांच कर 4 दिन में रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है. जांच पूरी होने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.