अमेठी: 48 घंटे में बहुचर्चित किसान नेता प्रमोद हत्याकांड का खुलासा, पुलिस ने 4 हत्यारोपियों को किया गिरफ्तार

हत्यारों के पास से एक तमंचा, 2 मोटरसाइकिल और 4 मोबाइल बरामद किए हैं. अमेठी एसपी ने आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को नकद पुरस्कार देने की भी घोषणा कर दी है.

अमेठी: 48 घंटे में बहुचर्चित किसान नेता प्रमोद हत्याकांड का खुलासा, पुलिस ने 4 हत्यारोपियों को किया गिरफ्तार

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी में हुए बहुचर्चित किसान नेता प्रमोद मिश्रा हत्याकांड का पुलिस ने 48 घंटे के अंदर खुलासा कर दिया है. पुलिस ने घटना में शामिल सभी चार हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. हत्यारों के पास से एक तमंचा, 2 मोटरसाइकिल और 4 मोबाइल बरामद किए हैं. अमेठी एसपी ने आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को नकद पुरस्कार देने की भी घोषणा कर दी है.

ये भी पढ़ें: अयोध्या में पंचायत के दौरान खूनी संघर्ष, ग्राम प्रधान समेत 2 की मौत, पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल

मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के लोनियापुर गांव का है. जहां पड़ोस के गांव श्रीरामपुर के रहने वाले भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रभारी प्रमोद मिश्रा को 16 मई की रात गांव के बाहर अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी और मौके से फरार हो गए. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे परिजनों ने गंभीर रूप से घायल प्रमोद मिश्र को सीएचसी अमेठी पहुंचाया, जहां से डॉक्टरों ने गंभीर हालत में उन्हें जिला अस्पताल सुल्तानपुर रेफर कर दिया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई.

मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से खुद आईजी अयोध्या जोन संजीव गुप्ता अमेठी पहुंचे और अधिकारियों को जल्द से जल्द हत्यारों को पकड़ने के निर्देश दिए. उच्चाधिकारी का आदेश मिलते ही हरकत में आई अमेठी एसपी ने कई थानों के थाना प्रभारी समेत एसओजी को अपराधियो को पकड़ने की जिम्मेदारी दी. जिसके बाद पुलिस ने कई सीसीटीवी खंगालने के बाद सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़ें: महोबा में बड़ा हादसा: झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर डीसीएम पलटने से 3 महिलाओं की मौत, 12 से ज्यादा घायल

घटना का खुलासा करते हुए अमेठी एसपी ख्याति गर्ग ने बताया कि मुख्य आरोपी सूरज तिवारी के पिता की दुकान के सामने एक विवादित जमीन थी. जिसमें एक पक्ष की पैरवी प्रमोद मिश्रा कर रहे थे इसी को लेकर सूरज ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर घटना की साजिश रची और प्रमोद मिश्रा को गांव के बाहर गोली मारकर फरार हो गया. घटना में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. घटना को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल किया गया तमंचा भी बरामद कर लिया है.