क्या अखिलेश के साथ चाचा शिवपाल भी आएंगे? ओपी राजभर बोले- इस 27 को सब साफ हो जाएगा
X

क्या अखिलेश के साथ चाचा शिवपाल भी आएंगे? ओपी राजभर बोले- इस 27 को सब साफ हो जाएगा

समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर उत्साहित ओपी राजभर ने कहा कि सपा मुखिया अखिलेश यादव से तमाम मुद्दों पर बात हो गई है. टिकट बंटवारे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मिल बैठकर चर्चा कर लेंगे.

क्या अखिलेश के साथ चाचा शिवपाल भी आएंगे? ओपी राजभर बोले- इस 27 को सब साफ हो जाएगा

लखनऊ: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बुधवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से राजधानी लखनऊ में मुलाकात की. इसके बाद सुभासपा और सपा ने अपने-अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 2022 का यूपी विधानसभा चुनाव गठबंधन में लड़ने का ऐलान किया. ओम प्रकाश राजभार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भाजपा को सत्ता से बेदखल करना ही उनका लक्ष्य है. 

समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर उत्साहित ओपी राजभर ने कहा कि सपा मुखिया अखिलेश यादव से तमाम मुद्दों पर बात हो गई है. टिकट बंटवारे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मिल बैठकर चर्चा कर लेंगे. सपा यदि सुभासपा को एक भी सीट नहीं देगी तब भी हम साथ रहेंगे. उन्होंने इस गठबंधन में शिवपाल यादव होंगे या नहीं, इसे लेकर गोलमोल जवाब दिया. ओपी राजभार ने कहा कि इसके लिए 27 तक इंतजार कीजिए, सारी तस्वीर साफ हो जाएगी.

आने वाली है PM Kisan की 10वीं किस्त, रजिस्ट्रेशन के समय कहीं आपसे भी तो नहीं हुई ये गलती, ऐसे करें ठीक

आगामी 27 अक्टूबर को मऊ के हलधरपुर में सुभासपा और समाजवादी पार्टी के गठबंधन का औपचारिक ऐलान होगा. ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि सपा की ओर से न्योता मिलने पर हमने उनसे बात की. अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद ट्विटर पर ओपी राजभर ने लिखा, ''अबकी बार, भाजपा साफ! समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मिले. दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों के साथ सभी वर्गों को धोखा देने वाली भाजपा सरकार के दिन हैं बचे चार...पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से शिष्टाचार मुलाकात की.'' 

कहानी फिल्मी नहीं असली है: नागिन की मौत के बाद थाने पहुंचा कोबरा, दारोगा के सामने फन फैलाकर बैठा

उन्होंने अखिलेश के साथ फोटो व वीडियो भी जारी किया. ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव ने उनसे जातीय जनगणना, सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करने, महंगाई कम करने, घरेलू बिजली का बिल माफ करने, रोजगार देने सहित कई मुद्दों पर सहमति जताई है. उन्होंने कहा कि 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की विदाई और अखिलेश यादव का मुख्यमंत्री बनना तय है. उन्होंने भाजपा को पिछड़ों और अति पिछड़ों का विरोधी बताया.

WATCH LIVE TV

Trending news