बागेश्वर: ग्रामीण क्षेत्र में पानी की समस्या होगी दूर, 16 करोड़ की लागत वाली पेयजल योजना का काम शुरु

इस योजना के पूरा होने के बाद दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र दफौट, गुरना, जेठाई सहित दर्जनों गांवों में पानी की समस्या का समाधान हो जायेगा.

बागेश्वर: ग्रामीण क्षेत्र में पानी की समस्या होगी दूर, 16 करोड़ की लागत वाली पेयजल योजना का काम शुरु
जेठाई पेयजल पंपिंग योजना से करीब दस हजार की आबादी को लाभ होगा.

संतोष/बागेश्वर: उत्तराखंड (Uttarakhand) में बागेश्वर (Bageshwar) जिले के ग्रामीण क्षेत्र की जनता के लिए नई पेजयल योजना का निर्माण शुरु हो गया है. इस योजना के पूरा होने के बाद बागेश्वर ब्लॉक के बड़े क्षेत्र में पानी की समस्या दूर हो जायेगी.

दरअसल, बागेश्वर के दफौट क्षेत्र में लंबे समय से पानी की समस्या बनी हुई थी. ग्रामीणों के अलग-अलग संगठन समस्या के निदान के लिये पिछले दो दशकों से आंदोलन भी कर रहे थे.

तीन बार बागेश्वर के विधायक रहे चंदन राम दास के लिये भी इस पेयजल योजना की स्वीकृति चुनौती बनी हुई थी. आखिरकार, योजना को हरी झंडी मिलते ही 16 करोड़ की लागत वाली हाईटेक जेठाई पेयजल पंपिंग योजना का काम शुरु कर दिया गया.

इस योजना के पूरा होने के बाद दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र दफौट, गुरना, जेठाई सहित दर्जनों गांवों में पानी की समस्या का समाधान हो जायेगा. पानी के स्रोत के लिये सरयू नदी के किनारे प्लांट लगाया जायेगा. जिससे लंबे समय तक पानी की कोई दिक्कत नहीं होगी.

स्थानीय विधायक चंदन राम दास ने बताया कि पहली किस्त मिलने के बाद योजना के निर्माण का शुभारंभ कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि योजना की घोषणा मुख्यमंत्री ने 2017 में की थी. 16 करोड़ रुपये से इसका निर्माण होगा. नाबार्ड से वित्त पोषित योजना को उत्तराखंड पेयजल संसाधन विकास एवं निर्माण विभाग बना रहा है. योजना की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए हैं.

योजना की जानकारी देते हुए पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता सीपी गंगवार ने बताया कि दफौट इलाके के करीब 12 गांवों के लिए बनाई जा रही जेठाई पेयजल पंपिंग योजना को जल्द पूरा कर लिया जायेगा. योजना से करीब दस हजार की आबादी को लाभ होगा.