अमेरिका ने NSG में भारत की सदस्यता प्रयास का किया समर्थन

अमेरिका ने आज ऑस्ट्रेलिया ग्रुप और वेसनार अरेंजमेंट की सदस्यता के लिए भारत के प्रयासों को अपना समर्थन दोहराया। वहीं, दोनों पक्षों ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत के प्रवेश के प्रयासों को दोगुना करने पर भी सहमति जताई। ये दोनों समूह चार महत्वपूर्ण परमाणु अप्रसार व्यवस्थाओं में शामिल हैं।

नई दिल्ली : अमेरिका ने आज ऑस्ट्रेलिया ग्रुप और वेसनार अरेंजमेंट की सदस्यता के लिए भारत के प्रयासों को अपना समर्थन दोहराया। वहीं, दोनों पक्षों ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत के प्रवेश के प्रयासों को दोगुना करने पर भी सहमति जताई। ये दोनों समूह चार महत्वपूर्ण परमाणु अप्रसार व्यवस्थाओं में शामिल हैं।

छह परमाणु रिएक्टरों पर दोनों देशों ने इंजीनियरिंग और साइट डिजाइन पर तुरंत काम शुरू करने की वकालत की। इन रिएक्टरों का निर्माण अमेरिका के सहयोग से किया जाएगा। आतंकवादियों की परमाणु और अन्य रेडियोसक्रिय सामग्रियों तक पहुंच और इस्तेमाल के खतरों से लड़ने के साझा उद्देश्यों को परिलक्षित करते हुए दोनों पक्षों ने वाशिंगटन डीसी में 2016 में परमाणु सुरक्षा सम्मेलन में किए गए अपने वादों की पुष्टि की।

द्वितीय भारत-अमेरिका रणनीतिक एवं वाणिज्यिक वार्ता के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में कहा गया, ‘वैश्विक अप्रसार एवं निर्यात नियंत्रण को मजबूत करने के प्रयासों के तहत दोनों पक्ष परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत के शीघ्र प्रवेश की दिशा में अपने प्रयासों को दोगुना करने को प्रतिबद्ध हैं।’ अमेरिका ने प्रतिभागी सरकारों से अपने साझा हित में भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करने का अनुरोध किया।