close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फ्लाइट में चंद मिनट WiFi यूज करना पड़ेगा महंगा, बिल देखकर उड़ जाएंगे होश

भारतीय विमानन कंपनियों का अनुमान है कि भारतीय सीमा में हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को तीस मिनट से एक घंटे के बीच फ्लाइट में इंटरनेट इस्‍तेमाल करने के लिए करीब 500 रुपए से 1000 रुपए के बीच भुगतान करना पड़ सकता है. 

फ्लाइट में चंद मिनट WiFi यूज करना पड़ेगा महंगा, बिल देखकर उड़ जाएंगे होश
प्रतीकात्मक तस्वीर (रॉयटर्स)

नई दिल्लीः फ्लाइट में वाईफाई के इस्‍तेमाल को लेकर हवाई यात्रियों के मन में तमाम जिज्ञासाओं के साथ एक उत्‍साह भी है. हालांकि इन यात्रियों का उत्‍साह इन-फ्लाइट वाईफाई सुविधा की कीमतों को सुनने के बाद ठंडा पड़ सकता है. दरअसल, उड़ान के दौरान विमान में मिलने वाली इन-फ्लाइट वाईफाई सुविधा मुफ़त नहीं होगी, इस सुविधा का इस्‍तेमाल करने के लिए यात्रियों को भुगतान करना होगा. भारत में भले ही अभी तक इन-फ्लाइट वाईफाई सुविधाओं की घोषणा न की गई हो, लेकिन दुनिया के जिन देशों में यह सुविधा है, वहां महज दस एमबी इंटरनेट डाटा का उपयोग करने के लिए करीब 4.5 डालर यानी 302 रुपए का भुगतान करना पडता है.

भारतीय विमानन कंपनियों का अनुमान है कि भारतीय सीमा में हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को 3 मिनट से 1 घंटे के बीच फ्लाइट में इंटरनेट इस्‍तेमाल करने के लिए करीब 500 रुपए से 1000 रुपए के बीच भुगतान करना पड़ सकता है. हालांकि इन कीमतों पर आखिरी फैसला इन-फ्लाइट वाईफाई सुविधा उपलब्‍ध कराने वाली कंपनियों के चुनाव के बाद हो सकेगा. इस भुगतान के एवज में यात्रियों को सीमित एमबी के तहत वेब ब्राउजिंग और ईमेल इस्‍तेमाल की इजाजत मिलेगी. गौर करने वाली बात यह है कि एक यात्री जितने रुपए अपने दो महीने के मोबाइल बिल के भुगतान में खर्च करता है, उससे अधिक रुपए उसे चंद मिनट के इंटरनेट इस्‍तेमाल के करना होगा. 

मोबाइल और लैपटॉप के लिए अलग-अलग हो सकती हैं कीमतें 
अमेरिका में फ्लाइट में वाईफाई का इस्‍तेमाल करने के लिए कीमते डिवाइस के अनुसार है. मसलन, यात्री मोबाइल पर इंटरनेट की सुविधा लेता है तो उसे 4.95 डालर से 19.95 डालर (करीब 331 रुपए से 1336 रुपए के बीच) और लैपटॉप के लिए 11 डालर से 49 डालर (करीब 737 से 3283 रुपए) के बीच भुगतान करना होता है. एयरलाइंस से जुडे एक वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार विश्‍व में तीन से चार प्रमुख कंपनियां हैं जो फ्लाइट में वाईफाई की सुविधा उपलब्‍ध कराते हैं. ज्‍यादातर भारतीय एयरलाइंस इन्‍हीं कंपनियों के संपर्क में है. ये कंपनियां इंटरनेशनल मॉडल पर अपनी कीमतें रख सकती है

60 फीसदी से अधिक यात्री सस्‍ती उड़ानों में सफर करना करते है पसंद  
भारत में 60 फीसदी से अधिक यात्री हवाई यात्रा के लिए सस्‍ती एयरलाइंस का चुनाव करते हैं. मार्च की बात करें तो 115.80 लाख यात्रियों ने हवाई यात्रा की है. जिसमें करीब 71 लाख यात्रियों ने सफर के लिए इंडिगो, स्‍पाइसजेट और गो एयर जैसी लो-कॉस्‍ट एयरलाइंस का चुनाव किया. एयरलाइंस कामर्शियल एण्‍ड टिकटिंग विंग से जुडे अधिकारी के अनुसार निजी यात्रा करने वाले ज्‍यादातर यात्री सस्‍ती से सस्‍ती टिकटें खोजते हैं. आलम यह है कि ज्‍यादातर यात्री महज 100 रुपए के अंतर को देख एक एयरलाइंस से दूसरी एयरलाइंस से शिफट हो जाते हैं. ऐसे में इन यात्रियों के लिए इन-फ्लाइट वाईफाई सेवा कितनी कारगर होगी, यह देखना रोचक होगा. 

हर सुविधा के लिए चुकानी होगी अलग कीमत 
फ्लाइट में इंटरनेट से जुडी तमाम सुविधाओं के लिए यात्रियों को अलग-अलग कीमत चुकानी होगी. मसलन, यात्रियों को ईमेल भेजने, स्‍वीकार करने, तुरंत मैसेज भेजने, वेब ब्राउसिंग, म्‍यूजिक, वीडियो या फिल्‍म देखने के लिए अगल अगल कीमत देनी होगी. उदाहरण के तौर पर ब्रिटिश एयरवेज अपने यात्रियों के लिए दो पैकेज उपलब्‍ध कराती है. पहला पैकेज ब्राउज पैकेज है. जिसमें वेब ब्राउजिंग, ईमेल भेजने व स्‍वीकार करने और मैसेजिंग की सुविधा उपलब्‍ध होती है. वहीं दूसरा पैकेज स्‍ट्रीम पैकेज है. जिसमें ब्राउस पैकेज के अतिरिक्‍त वीडियो, म्‍यूजिक और मूवी की सुविधा उपलब्‍ध होती है. 

फ्लाइट में कैसे कर सकेंगे वाईफाई का इस्‍तेमाल
- विमान के उड़ान भरने से पहले फ्लाइट क्रू सिक्‍योरटी प्रोजीसर के साथ वाईफाई की उपलब्‍धता और उपयोग के तरीकों की जानकारी देगा.
- 3 हजार मीटर पर पहुंचने के बाद विमान का वाईफाई पोर्ट शुरू कर कर दिया जाएगा. 
- यात्रियों के मोबाइल या लैपटाप डिवाइस को वाईफाई पोर्ट से कनेक्‍ट करते ही सर्विस प्रोवाइडर का होम पेज खुल जाएगा. 
- होमपेज पर वाईफाई के प्रयोग के लिए विभि‍न्‍न पैकेज उपलब्‍ध होंगे, पैकेज का भुगतान करते ही मोबाइल या लैपटॉप में इंटरनेट सेवाएं शुरू हो जाएगी.

विदेशों में क्‍या है फ्लाइट में वाईफाई उपयोग करने की कीमतें
एयरलाइंस - डाटा (एमबी ) - मूल्‍य 
एयरफ़लोट - 150 एमबी  - 50 डालर (करीब 3350 रुपए)
एयर एशिया - 10 एमवी - 4.5 डालर (करीब 302 रुपए)
एयर फ्रांस - 200 एमबी - 36 डालर (करीब 2412 रुपए)
ब्रिटिश एयरवेज - पूरी फ्लाइट के लिए - 32 डालर (करीब 2144 रुपए)
अमीरात एयरलाइंस - 500 एमबी - 15.99 डालर (करीब 1071 रुपए) 
(ई ड्रीम्‍स में मौजूद जानकारी के अनुसार)

फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा देने वाली पहली भारतीय एयरलाइंस होगी स्‍पाइस जेट 
स्‍पाइस जेट एयरलाइंस के सीएमडी अजय सिंह ने कहा है कि फ्लाइट में वाईफाई कनेक्टिविटी शुरू करने के फैसला का स्‍पाइस जेट स्‍वागत करती है. यात्रियों को फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा प्रदान करने के लिए लगातार काम कर रही है. स्‍पाइस जेट देश की पहली भारतीय एयरलाइंस होगी जो यात्रियों को इन फ्लाइट इंटरनेट की सुविधा उपलब्‍ध कराएगी.