close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: 'जय श्री राम' के नारे को लेकर ममता ने फिर खोया आपा, बोलीं - 'गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गुरुवार को उस समय अपना आपा खो बैठी जब कुछ लोगों के एक समूह ने उनके काफिले के सामने 'जय श्री राम' के नारे लगाए.

VIDEO: 'जय श्री राम' के नारे को लेकर ममता ने फिर खोया आपा, बोलीं - 'गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं'
वीडियो में साफ दिख रहा है कि ममता कार से उतरीं और जय श्री राम का नारा लगा रहे लोगों का सामना किया..

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गुरुवार को उस समय अपना आपा खो बैठी जब कुछ लोगों के एक समूह ने उनके काफिले के सामने 'जय श्री राम' के नारे लगाए. बनर्जी का काफिला उत्तरी 24 परगना जिले के संकटग्रस्त भाटपारा से गुजर रहा था तभी कुछ लोगों ने 'जय श्री राम' के नारे लगाए जिसके बाद वह एक बार फिर अपना आपा खो बैठीं. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद अपने पार्टी कार्यकर्ताओं पर हुई ‘हिंसा’ के खिलाफ एक धरने में हिस्सा लेने के लिए नैहाटी जा रही थीं. 

सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कुछ लोग उस समय ‘‘जय श्री राम’’ के नारे लगाते हुए नजर आ रहे हैं, जब बनर्जी का काफिला भाटपारा क्षेत्र से गुजर रहा था. इस क्षेत्र में चुनाव परिणामों की घोषणा होने के बाद से भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच हिंसा चल रही है. यह क्षेत्र भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह का गढ़ माना जाता है. सिंह ने चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी को पराजित किया है.

वीडियो में साफ दिख रहा है कि ममता कार से उतरीं और जय श्री राम का नारा लगा रहे लोगों का सामना किया. ममता ने इस पूरी घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह इस तरह की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं करेंगी. ममता ने कहा, "मैं बंगाल को गुजरात नहीं बनने दूंगी. आप सब मेरी बदौलत जिंदा हैं. मैं आप लोगों को एक मिनट में सबक सिखा सकती हूं. आप लोगों की मेरे काफिले पर हमला करने की हिम्मत कैसे हुई." उन्होंने खाल उड़ाने की धमकी दे डाली. ममता ने आरोप लगाते हुए कहा, "जय श्री राम का नारा लगाने वाले बाहरी हैं और बीजेपी के लोग हैं. वे अपराधिक पृष्ठभूमि के हैं और मुझे गाली दे रहे हैं. वे बंगाल के नहीं हैं." 

क्रोधित बनर्जी अपने कार से बाहर आई और उन्होंने अपने सुरक्षा अधिकारियों से इन पुरूषों के नाम लिखने को कहा. उन्हें यह कहते हुए सुना गया, "आप अपने बारे में क्या सोचते हैं? आप अन्य राज्यों से आएंगे, यहां रहें और हमारे साथ दुर्व्यवहार करें. मैं इसे बर्दाश्त नहीं करूंगी. तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मुझे अपमानित करने की? आप सभी के नामों और विवरणों को लिख लिया जाएगा."

  

मुख्यमंत्री के अपनी कार में वापस जाने के बाद उन लोगों ने फिर से ‘‘जय श्री राम’’ के नारे लगाए जिस वजह से उन्हें फिर से एक बार अपने वाहन से उतरना पड़ा. इसके बाद नैहाटी में धरने में बैठे लोगों को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ता उनकी कार के सामने आए और उन्हें अपशब्द कहने लगे. उन्होंने पूछा, ‘‘क्या यहीं लोकतंत्र है?’’

इससे पहले, चार मई को एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें बनर्जी जय श्री राम का नारा लगा रहे लोगों का सामना करने के लिए अपने वाहन से उतर गईं. बनर्जी के काफिले को रुका देख, लोगों ने भागना शुरू कर दिया. ममता ने उन्हें वापस आने की चुनौती दी थी. चार लोगों को इसी सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था.

(इनपुट भाषा से भी)