Yamuna Expressway पर 15 दिसंबर से लगेगी वाहनों की रफ्तार पर लगाम, इस वजह से लिया गया फैसला
topStories1hindi1472569

Yamuna Expressway पर 15 दिसंबर से लगेगी वाहनों की रफ्तार पर लगाम, इस वजह से लिया गया फैसला

Yamuna Expressway Speed Limit: यमुना अथॉरिटी ने यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर 15 दिसंबर से 15 फरवरी तक वाहनों की रफ्तार पर लगाम लगाने की तैयारी की है.

Yamuna Expressway पर 15 दिसंबर से लगेगी वाहनों की रफ्तार पर लगाम, इस वजह से लिया गया फैसला

Yamuna Expressway Vehicles Speed: अगर आप भी यमुना एक्सप्रेस-वे पर जाने का प्लान बना रहे हैं तो यह खबर आपके लिए जरूरी है. यमुना अथॉरिटी ने यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर वाहनों की रफ्तार पर लगाम लगाने की तैयारी की है. यमुना एक्सप्रेस वे पर 15 दिसंबर से 15 फरवरी तक यह प्रतिबंध जारी रहेगा.

क्यों लिया गया स्पीड कम करने का फैसला?

सर्दी का मौसम आते ही कोहरा और उससे होने वाले एक्सीडेंट के मामले बढ़ने लगे हैं और इसी वजह से यमुना अथॉरिटी ने यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर वाहनों की रफ्तार पर लगाम लगाने का फैसला किया है. 

एक्सप्रेस-वे पर कितनी होगी रफ्तार?

15 दिसंबर से यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर भारी वाहन 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगे. वहीं, एक्सप्रेस-वे पर हल्के वाहन 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे. रफ्तार पर यह प्रतिबंध 15 फरवरी तक जारी रहेगा. बता दें कि अभी तक यमुना एक्सप्रेस-वे भारी वाहन 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से और हल्के वाहन 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ते हैं.

हर साल सर्दियों में कम की जाती है रफ्तार

यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) के सीईओ डॉ अरुण वीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया है कि यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर हादसों को रोकने के लिए हर साल रफ्तार कम कर दी जाती है. उन्होंने बताया कि इस बार भी रफ्तार कम की गई है, ताकि हादसों पर रोक लगाई जा सके.

डॉ अरुण वीर सिंह ने बताया कि इसके साथ ही जेपी ग्रुप को यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर जल्द ही कुछ टोल बूथ को शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं. यमुना अथॉरिटी ने जो भी निर्देश स्पीड कम करने के दिए हैं, उसे जेपी समूह को पालन करना होगा.

50 प्रतिशत कई हुई हादसों की संख्या

बताया जा रहा है कि यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) पर हादसों में कमी आई है और हादसों की संख्या घटकर 50 फीसद हो गई है. यमुना अथॉरिटी ने आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) की टीम से एक्सप्रेस-वे का सर्वे करवाया गया था और रिपोर्ट में एक्सप्रेस-वे पर कुछ काम कराने की सलाह दी गई थी. यमुना अथॉरिटी के निर्देश पर जेपी ग्रुप की ओर से एक्सप्रेस-वे पर काम कराए गए हैं. इसके बाद फर्क भी साफ देखने को मिल रहा है और एक्सप्रेस-वे पर हादसों में कमी आई है.
(इनपुट- न्यूज एजेंसी आईएएनएस)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं. 

Trending news