close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस पर साध्वी प्रज्ञा का हमला, कहा- 'महिला का अपमान करती है पार्टी, मुझे आतंकी तक कहा'

मध्यप्रदेश की सत्ता में मौजूद कमलनाथ सरकार पर सवाल उठाते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने आते ही जन कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया है. 

कांग्रेस पर साध्वी प्रज्ञा का हमला, कहा- 'महिला का अपमान करती है पार्टी, मुझे आतंकी तक कहा'
फाइल फोटो

भोपाल : मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से चुनावी ताल ठोंक रहीं बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस पर हमला किया है. साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस ने इतने सालों तक सिर्फ देश को भ्रमित करने का काम किया है. 

जल्द पेश करेंगे एजेंडा
साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि वह कांग्रेस द्वारा की गई भ्रमित बातों को लेकर जनता के बीच जाएंगी और जल्द ही अपने एजेंडे को जनता के सामने पेश करेंगी. शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि उनका काम सबको दिखता है. 

कमलनाथ के कामों पर उठाए सवाल
मध्यप्रदेश की सत्ता में मौजूद कमलनाथ सरकार पर सवाल उठाते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने आते ही जन कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया है. साध्वी प्रज्ञा ने कहा, 'मैं लोगों को भ्रमित नहीं करना चाहती जो बोलूंगी वही करुंगी. मुझे खुद इतना प्रताड़ित किया है.

कांग्रेस ने मुझे आतंकवादी तक कहा
साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस ने उन्हें आतंकवादी कहकर पुकारा है और उनके भगवा रंग पहनने पर भी सवाल उठाए हैं. जावेद अख्तर के ट्वीट पर साध्वी प्रज्ञा ने कहा, 'मैं इस देश के लिए जीती और मरती हूं. मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है. ऐसी बातों से. देश के दुश्मन देश के विरोधी ऐसी बात करते रहते है करते रहेंगे. मुस्लिम वोटर से मेरा कहना है कि वो भी इस देश धरती के पुत्र हैं. दिग्विजय को निशाने पर लेते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस ने मुझे तोड़फोड़ दिया है. वो तो चाहती ही नहीं है कि मैं जिंदा रहूं. कल यह लोग मुझे मुस्लिम आतंकवादी और स्त्री आतंकवाद कह सकते हैं. साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस औरत को औरत नहीं समझती है. उन्होंने कहा कि जो मेरे साथ हुआ उसकी क्या गारंटी कि वो किसी के साथ ये नही करेंगे. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह को जल्द सबूत मिलेंगे की किस तरह मुझे प्रताड़ित किया गया है.