close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी नेता डॉ॰ हर्षवर्धन फिर एक बार चांदनी चौक के चुनावी मैदान में...

डॉ॰ हर्षवर्धन ने अपनी स्कूली शिक्षा दरियागंज के एंग्लो संस्कृत विक्टोरिया जुबली सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में पूरी की. 

बीजेपी नेता डॉ॰ हर्षवर्धन फिर एक बार चांदनी चौक के चुनावी मैदान में...
डॉ. हर्ष वर्धन अभी दिल्ली के चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने अपने कद्दवार नेता डॉ॰ हर्षवर्धन को चांदनी चौक से चुनावी मैदान में उतार है. बीजेपी के दिग्गज नेता डॉ॰ हर्षवर्धन दिल्ली विधानसभा चुनाव 2013 बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री के उम्मीदवार भी रह चुके हैं. डॉक्टर हर्षवर्धन का जन्म 13 दिसंबर 1954 को दिल्ली में हुआ था. 

डॉ॰ हर्षवर्धन ने अपनी स्कूली शिक्षा दरियागंज के एंग्लो संस्कृत विक्टोरिया जुबली सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में पूरी की. जिसके बाद डॉ॰ हर्षवर्धन एमबीबीएस की डिग्री कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज से प्राप्त की और साथ ही सर्जरी से एमए की पढ़ाई पूरी भी की है. इसके बाद वह आरएसएस से जुड़ गए. 

डॉ॰ हर्षवर्धन के राजनीतिक सफर की बात करें तो हर्षवर्धन भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 1993 में कृष्णा नगर विधानसभा क्षेत्र से चुने गए और दिल्ली की विधानसभा के सदस्य बने. 1998 और 2003 में फिर से कृष्णा नगर से विधानसभा के लिए चुने गए. इसके बाद डॉ॰ हर्षवर्धन साल 2008 में विधानसभा चुनाव में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पार्षद दीपिका खुल्लर को 3,204 मतों से हराने के साथ ही चौथी बार विधानसभा के सदस्य बने. यहां तक कि हर्षवर्धन के विधानसभा चुनाव में कभी नहीं हारे. 

 डॉ. हर्ष वर्धन अभी दिल्ली के चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं. वह बीजेपी सरकार में केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, पृथ्वी विज्ञान मंत्री हैं. इनके नेतृत्व में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तमाम उपलब्धियां हासिल की हैं. दिल्ली की सरकार में कानून और स्वास्थ्य मंत्री नियुक्त किया गया. 1996 में शिक्षा मंत्री बने. राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने अक्टूबर 1994 में पोलियो उन्मूलन योजना का शुभारम्भ किया जो कि सफल रहा. जिसके बाद इसे भारत सरकार द्वारा पूरे देश में अपनाया गया.

डॉ. हर्षवर्धन ने चांदनी चौक सीट पर 2004 और 2009 में विजयी रहे. वहीं साल 2014 में डॉ. हर्षवर्धन के खिलाफ आम आदमी पार्टी से नेता आशुतोष जबकि कांग्रेस से पूर्व सांसद कपिल सिब्‍बल ने ताल ठोकी थी लेकिन डॉ. हर्षवर्धन ने 437938 वोटों के साथ अपने करीबी प्रतिद्वंदी आशुतोष को बेहद कम 363 वोटों के अंतर से हराया. जबकि 176206 वोटों के साथ कांग्रेस के कपिल सिब्बल तीसरे स्थान पर रहे थे.