close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हैदराबाद लोकसभा सीट: इस हाई प्रोफाइल सीट पर 1984 से है एक ही परिवार का कब्जा

2014 के आम चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी को 5,13,868 वोट मिले थे. जो करीब 52.87 मत प्रतिशत था.

हैदराबाद लोकसभा सीट: इस हाई प्रोफाइल सीट पर 1984 से है एक ही परिवार का कब्जा
चुनाव आयोग की वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार, हैदराबाद लोकसभा सीट पर इस बार 15 प्रत्याशियों ने अपनी किस्मत अजमाई है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः 2019 के लोकसभा चुनाव में बहुत सी ऐसी लोकसभा सीट रही जिनमें कांटे की टक्कर देखने को मिली. ऐसी ही एक सीट रही हैदराबाद लोकसभा सीट. इस सीट में चुनाव के पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान हुआ था. हैदराबाद की सीट पर 1984 से एक ही परिवार का कब्जा रहा है. यहां हमेंशा से ही ओवैसी परिवार ही इस सीट से जीतती रही है. हैदराबाद लोकसभा सीट से ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल (एआईएमआईएम) पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सांसद हैं.

इस देश के पूर्व राष्‍ट्रपति ने नतीजों से पहले ही PM मोदी को दी जीत की बधाई

ओवैसी 2004 से इस सीट पर सांसद चुने जा रहे हैं. 2014 के आम चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी उम्मीदवार डॉ. भगवंत राव पर करीब दो लाख वोटों से जीत दर्ज की थी. चुनाव आयोग की वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार, हैदराबाद लोकसभा सीट पर इस बार 15 प्रत्याशियों ने अपनी किस्मत अजमाई है. यह देखना बहुत दिलचस्प होगा कि क्या इस बार भी ओवैसी परिवार ही इस सीट पर रहती है या नहीं. हैदराबाद लोकसभा सीट पर अब तक कुल 16 बार लोकसभा चुनाव हो चुके हैं, जिनमें से आठ बार AIMIM ने जीत दर्ज की. 

सर्जिकल स्‍ट्राइक पर कांग्रेस का दावा झूठा साबित, सेना ने कहा- 2016 में ही हुई पहली Surgical Strike

हैदराबाद की इस सीट पर लगातार तीन बार से सांसद रहे असदुद्दीन ओवैसी की किस्मत का फैसला जनता 11 अप्रैल को जनता  कर चुकी है, अब बल इंतजार है चुनाव के नतीजों का. ऐसा माना जा रहा है कि हैदराबाद की सीट को अपने पास रखना ओवैसी के लिए आसान नहीं है. कोई भी पक्ष नतीजों पर खुलकर कुछ भी नहीं कह सकता. वहीं, बीजेपी ने एक बार फिर से डॉ. भगवंत राव पर भरोसा जताया है.

तेल का बड़ा भंडार खोजने निकला था पाकिस्तान, 700 करोड़ फूंकने के बाद मिला 'ठेंगा'

आपको बता दें तेलंगाना की इस सीट का परिसीमन 2008 में हुआ था. और यहा पर कुल 18 लाख 23 हजार 664 वोटर है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की आबादी 21 लाख 84 हजार467 है. हैदराबाद में मुस्लिमों वोटरों की संख्या सबसे अधिक है.