यदि हमने 22 सीटें जीत लीं तो कर्नाटक में 24 घंटे के भीतर बन जाएगी BJP सरकार: येद्दियुरप्‍पा

कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की सरकार है. पिछले साल के विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के बावजूद बीजेपी सरकार बनाने में नाकाम रही.

यदि हमने 22 सीटें जीत लीं तो कर्नाटक में 24 घंटे के भीतर बन जाएगी BJP सरकार: येद्दियुरप्‍पा

बेंगलुरू: कर्नाटक में बीजेपी के दिग्‍गज नेता बीएस येदियुरप्‍पा ने कहा है कि आगामी लोकसभा चुनावों में अगर राज्‍य की 28 लोकसभा चुनावों में से पार्टी ने 22 सीटें जीत लीं तो उसके बाद 24 घंटे के भीतर कर्नाटक में बीजेपी की सरकार बन जाएगी. यानी जेडीएस-कांग्रेस सरकार गिर जाएगी. पिछले साल के विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के बावजूद बीजेपी सरकार बनाने में नाकाम रही. बीजेपी को बहुमत के जादुई आंकड़े के लिए सात विधायकों के समर्थन की जरूरत थी लेकिन चुनाव बाद जेडीएस-कांग्रेस ने हाथ मिलाकर बीजेपी को सत्‍ता से दूर कर दिया. जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बने.

जेडीएस-कांग्रेस में सीटों का तालमेल होना तय
इस बीच जनता दल सेक्‍युलर (जदएस) के प्रमुख एच डी देवगौड़ा ने पिछले दिनों कहा कि कर्नाटक में गठबंधन सहयोगी कांग्रेस के साथ सीटों का बंटवारा 13-14 मार्च तक पूरा हो जाने की संभावना है. इस भ्रम पर कि वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगे, पूर्व प्रधानमंत्री ने साफ किया कि वह भी इस पर किसी निर्णय पर नहीं पहुंचे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘.... सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर 13 या 14 मार्च तक एक या दो दिन में हम अंतिम चरण में पहुंच जायेंगे.’’

राहुल गांधी और देवगौड़ा के बीच हुई मुलाकात
पिछले हफ्ते दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और देवगौड़ा के बीच सीटों के बंटवारे पर बैठक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची थी. हालांकि अपनी पार्टी की मांग में कमी लाते हुए देवेगौड़ा ने कांग्रेस से उनकी पार्टी को 28 लोकसभा सीटों में से कम से कम 10 सीटें देने को कहा था. जदएस ने पहले 12 सीटें मांगी थीं.

लोकसभा चुनाव 2019: कर्नाटक में इस फॉर्मूले के साथ उतरेगा जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन

उधर कांग्रेस ने सीटों और उम्मीदवारों के बारे में चर्चा करने के लिए पार्टी महासचिव की अगुवाई में चयन समिति की बैठक की है. पिछले गुरुवार को को कर्नाटक कांग्रेस की चुनाव समिति ने अपनी एक बैठक कर 28 में से 15 सीटों के लिए नामों के एक पैनल को अंतिम रूप दिया था.

सूत्रों के अनुसार यह स्पष्ट है कि जदएस की हसन और मांड्या सीटें उसी को मिलेंगी. इन दोनों सीटों पर फिलहाल उसके सांसद हैं. शिमोगा सीट के बारे में देवगौड़ा पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि पूर्व विधायक मधु बंगरप्पा उम्मीदवार होगी. ऐसे में दोनों दलों को उनकी बाकी सीटों को तय करने की जरूरत है जो जदएस को मिलेंगी.

(इनपुट: एजेंसी भाषा से भी)