close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पीएम मोदी की चली ऐसी सुनामी कि उजड़ गये कई राजघराने, ढह गया दिग्गजों का किला

पूर्ववर्ती शाही परिवारों के 12 उम्मीदवारों में से बीजेपी की तरफ से लड़ रहे चार उम्मीदवार ही अपने निकटतम उम्मीदवारों से बढ़त लिये हुए हैं जबकि शेष पीछे चल रहे हैं.

पीएम मोदी की चली ऐसी सुनामी कि उजड़ गये कई राजघराने, ढह गया दिग्गजों का किला
ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के कृष्ण पाल सिंह से पीछे चल रहे हैं. (फाइल)

नई दिल्ली: निर्वाचन आयोग द्वारा जारी रुझानों के मुताबिक लोकसभा चुनाव लड़ रहे पूर्ववर्ती शाही परिवारों के 12 उम्मीदवारों में से बीजेपी की तरफ से लड़ रहे चार उम्मीदवार ही अपने निकटतम उम्मीदवारों से बढ़त लिये हुए हैं जबकि शेष पीछे चल रहे हैं. राजस्थान में पूर्ववर्ती शाही परिवारों के तीन उम्मीदवार मैदान में हैं. इनमें बीजेपी की तरफ से खड़ी हुईं जयपुर के पूर्ववर्ती राजघराने की दीया कुमारी राजसमंद में कांग्रेस के देवकीनंदन से 5 लाख चालीस हजार वोटों से आगे चल रही हैं. 

दुष्यंत सिंह झालावाड़ सीट से आगे
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे और पूर्ववर्ती धौलपुर राजघराने से आने वाले बीजेपी उम्मीदवार दुष्यंत सिंह झालावाड़-बारां संसदीय सीट से अपने करीबी कांग्रेस उम्मीदवार प्रमोद शर्मा से करीब साढ़े चार लाख वोटों से आगे चल रहे हैं. अलवर राजघराने से आने वाले कांग्रेस के भंवर जितेंद्र सिंह अलवर संसदीय सीट पर बीजेपी के बालक नाथ से करीब तीन लाख 20 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं. 

ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर सीट से पीछे
मध्य प्रदेश में गुना से चुनाव लड़ रहे ग्वालियर राजघराने के ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के कृष्ण पाल सिंह से एक लाख से ज्यादा मतों से पीछे चल रहे हैं. उत्तर प्रदेश में शाही परिवारों से जुड़े उम्मीदवार प्रतापगढ़, कुशीनगर और गोंडा से चुनाव मैदान में हैं. कालाकांकर शाही परिवार से आने वाली राजकुमारी रत्ना सिंह प्रतापगढ़ से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं और वह तीसरे स्थान पर हैं जिन्हें 72 हजार से कुछ ही ज्यादा मत मिले हैं. इस सीट पर तीन लाख 70 हजार से ज्यादा मत हासिल कर बीजेपी के संगम लाल गुप्ता सबसे आगे चल रहे हैं. 

बीजेपी के कीर्ति वर्धन सिंह गोंडा सीट पर आगे
मनकापुर शाही परिवार से आने वाले बीजेपी के कीर्ति वर्धन सिंह गोंडा सीट पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार विनोद कुमार पर करीब एक लाख 20 हजार मतों की बढ़त बनाए हुए हैं. कुशीनगर सीट से कांग्रेस के टिकट पर लड़ रहे कुंवर रतनजीत प्रताप सिंह 79,350 वोटों के साथ तीसरे नंबर पर हैं जबकि बीजेपी के विजय कुमार दुबे तीन लाख 40 हजार मतों के साथ सबसे आगे चल रहे थे.

बीजेडी के कलिकेश नारायण सिंह पीछे
ओडिशा में तत्कालीन पटना राजघराने से आने वाले बीजू जनता दल के कलिकेश नारायण सिंह देव बीजेपी उम्मीदवार संगीता कुमारी सिंह देव से करीब 22 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं. ओडिशा के कालाहांडी से आने वाले बीजद उम्मीदवार धर्मागढ़ के पुष्पेंद्र सिंह बीजेपी के बसंत कुमार पांडा से करीब 21 हजार मतों से पीछे चल रहे हैं. जम्मू कश्मीर की उधमपुर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार विक्रमादित्य सिंह केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता जितेंद्र सिंह से तीन लाख 30 हजार से ज्यादा मतों से पीछे चल रहे हैं. पांडलम शाही परिवार से आने वाले पांडलम केरालावरमराजा तिरुवनंतपुरम से निर्दलीय उम्मीदवार हैं. उन्हें सिर्फ 1,246 मत मिले हैं.