पहले चरण में अजीत सिंह समेत मोदी सरकार के इन तीन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) का गठबंधन बीजेपी की राह में बड़ा रोड़ा बन सकता है. 

पहले चरण में अजीत सिंह समेत मोदी सरकार के इन तीन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर
इन सभी आठ सीटों पर कुल 1.5 करोड़ मतदाता हैं. यह यूपी के कुल मतदाताओं का करीब 11 फीसदी है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पहले चरण में 11 अप्रैल को 20 राज्यों की 91 सीटों पर मतदान होना है. इन 91 सीटों में से पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ हाईप्रोफाइल लोकसभा सीटों पर भी मतदान होगा. सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर की इन आठों लोकसभा सीटों पर 2014 के आम चुनाव में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी. वहीं, इस बार इन सीटों पर चुनावी मुकाबला काफी दिलचस्प होने के कयास लगाए जा रहे हैं. दरअसल, यूपी में कांग्रेस को गठबंधन से दूर रखते हुए सपा-बसपा-रालोद साथ आ गए हैं. ऐसे में राजनीतिक समीकरणों के पलटने की संभावना बढ़ गई है.

1.5 करोड़ मतदाता करेंगे मतदान
समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) का गठबंधन बीजेपी की राह में बड़ा रोड़ा बन सकता है. वहीं, कांग्रेस भी इन सीटों पर कड़ा मुकाबला देने की कोशिश कर रही है. इन हाईप्रोफाइल सीटों में से तीन पर केंद्रीय मंत्री चुनाव लड़ रहे हैं. इनमें जनरल वीके सिंह (गाजियाबाद), सत्यपाल सिंह (बागपत) और महेश शर्मा (गौतम बुद्ध नगर) चुनावी मैदान में हैं. वहीं, रालोद प्रमुख अजीत सिंह (मुजफ्फरनगर) और उनके बेटे जयंत चौधरी (बागपत) से उम्मीदवार हैं. इन सभी आठ सीटों पर कुल 1.5 करोड़ मतदाता हैं. यह यूपी के कुल मतदाताओं का करीब 11 फीसदी है.

मुजफ्फरनगर
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- अजीत सिंह (रालोद प्रमुख)
बीजेपी- संजीव बाल्यान (पूर्व केंद्रीय मंत्री) 
कांग्रेस- प्रत्याशी उतारने से इनकार किया

गाजियाबाद
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- सुरेश बंसल
बीजेपी- वीके सिंह (केंद्रीय मंत्री)
कांग्रेस- डॉली शर्मा

गौतमबुद्ध नगर (नोएडा)
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- सतवीर नागर
बीजेपी- महेश शर्मा (केंद्रीय मंत्री)
कांग्रेस- अरविंद कुमार सिंह

बागपत
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- जयंत चौधरी
बीजेपी- सत्यपाल सिंह (केंद्रीय मंत्री)

सहारनपुर
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- हाजी फजुलर्रहमान
बीजेपी- राघव लखनपाल
कांग्रेस- इमरान मसूद

बिजनौर
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- मलूक नागर
बीजेपी- कुंवर भारतेंद्र सिंह
कांग्रेस- नसीमुद्दीन सिद्दीकी

कैराना
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- तबस्सुम हसन
बीजेपी- प्रदीप चौधरी
कांग्रेस- हरेंद्र मलिक

मेरठ
सपा-बसपा-रालोद गठबंधन- याकूब कुरैशी
बीजेपी- राजेन्द्र अग्रवाल
कांग्रेस- हरेन्द्र अग्रवाल