कोलकाता: मंच से स्टालिन बोले, 'लोकसभा चुनाव आजादी की दूसरी लड़ाई जैसी'

स्टालिन ने केंद्र सरकार पर कॉर्पोरेट घरानों के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए उसकी आलोचना की. उन्होंने कहा कि अगर मोदी फिर से सत्ता में आते हैं तो देश 50 साल पीछे चला जाएगा.

कोलकाता: मंच से स्टालिन बोले, 'लोकसभा चुनाव आजादी की दूसरी लड़ाई जैसी'
फोटो सौजन्य: @AITCofficial

कोलकाता: द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने शनिवार को कहा कि आगामी आम चुनाव भाजपा के ‘‘कट्टर हिंदुत्व” के खिलाफ भारत के लोगों के लिए आजादी की दूसरी लड़ाई के समान होंगे. यहां तृणमूल कांग्रेस की महारैली में स्टालिन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत कुछ लोगों से 'डरते' हैं.
 
ब्रिगेड परेड ग्राउंड में उन्होंने कहा कि अगले (लोकसभा) चुनाव आजादी की दूसरी लड़ाई जैसे होंगे. हम हिंदुत्व एवं कट्टर हिंदूवाद के जहर को फैलने से रोकेंगे. हमारी अपील मोदी को हराने और देश को बचाने की है. 

स्टालिन ने केंद्र सरकार पर कॉर्पोरेट घरानों के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए उसकी आलोचना की. उन्होंने कहा कि अगर मोदी फिर से सत्ता में आते हैं तो देश 50 साल पीछे चला जाएगा. बीजू जनता दल (बीजद) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नीत वाम मोर्चे के अलावा सभी विपक्षी पार्टियों के नेता रैली में हिस्सा ले रहे हैं. 

वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने शुक्रवार को कहा कि केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार को शिकस्त देने के लिए पूरा देश एकजुट है. पूर्व प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल नेता ममता बनर्जी की सराहना की और देश में धर्मनिरपेक्ष सरकार लाने के रास्ते तलाशने के उनके प्रयासों को ऐतिहासिक करार दिया.

गौड़ा ने शनिवार को विपक्ष की महारैली में शामिल होने के लिए यहां पहुंचने पर कहा कि ममता महान नेता हैं. वह मेहनती हैं और राजनीति में ऐसे ही लोगों की जरूरत है. धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने के लिए रास्ता बनाने का उनका निर्णय ऐतिहासिक है.