close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: डकैतों के आतंक से भयभीत हैं इस गांव के लोग, करेंगे वोट बहिष्कार!

उड़ेली में 281 चिन्हित मतदाता हैं. ग्रामीणों का कहना है कि हर चुनाव में पांच से दस लोग ही मतदान करते हैं जो गांव से हटकर कस्बो में रह रहे और मतदाता सूची में गांव में उनका नाम है.

MP: डकैतों के आतंक से भयभीत हैं इस गांव के लोग, करेंगे वोट बहिष्कार!
प्रतीकात्मक तस्वीर

सतना: जिले के तराई अंचल में डकैतों के आतंक के चलते उड़ेली गांव के मतदाताओं ने वोट डालने के लिए अपने गांव से 30 किलोमीटर दूर मतदान केंद्र में जाने से मना कर दिया है. जिसके कारण इस बार गांव के लोगों ने पड़री मतदान केंद्र में मतदान करने का बहिष्कार की घोषणा कर दी है.

दरअसल, चित्रकूट विधानसभा डकैत प्रभावित इलाका है. जहां आजादी के बाद से आज तक सिर्फ चुनिंदा लोग ही मतदान करते आए हैं. बाकी ग्रामीणों ने आज तक मतदान नहीं किया है. दरअसल इस ग्रामीणों को मतदान के लिए बूथ तक जाने के लिए 30 किलोमीटर का लंबा सफर तय करना पड़ता है.

700 लोगों की आबादी वाला उड़ेली गांव डकैत प्रभावित क्षेत्र में आता है. उड़ेली और पड़री पंचायत के बीच की दूरी 30 किलोमीटर है जिसका सफर पहाड़ और जंगल के बीच जोखिमों से भरा हुआ है. उड़ेली में 281 चिन्हित मतदाता हैं. ग्रामीणों का कहना है कि हर चुनाव में पांच से दस लोग ही मतदान करते हैं जो गांव से हटकर कस्बो में रह रहे और मतदाता सूची में गांव में उनका नाम है.

लोग जवान से वृद्ध हो गए मगर अपने मौलिक अधिकार का प्रयोग नहीं कर पाए. इस बार लोगों में जागरूकता आई है और अपने हक की मांग भी बुलंद कर रहे लोगों ने खुल कर एलान किया है कि यदि गांव में मतदान क्रेंद नहीं खुला तो वो मतदान का बहिष्कार करेंगे.