close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मरुधरा में पीएम मोदी ने शहीदों को किया सलाम, पढ़ें संबोधन की 10 मुख्य बातें

उन्होंने कहा कि आतंकवादियों से कश्मीरियों का नुकसान हुआ है. जिसे पूरे हिन्दूस्तान को मिलकर दूर करना होगा. 

मरुधरा में पीएम मोदी ने शहीदों को किया सलाम, पढ़ें संबोधन की 10 मुख्य बातें
उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार के फैसलों की वजह से पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है.'

नई दिल्ली: राजस्थान के टोंक में विजय संकल्प रैली के लिए शनिवार को पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में पुलवामा के शहीदों को याद करने के अलावा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को उनके वायदे की याद भी दिलाई. वहीं, उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों से कश्मीरियों का नुकसान हुआ है. जिसे पूरे हिन्दूस्तान को मिलकर दूर करना होगा.

इस दौरान पाकिस्तान के पीएम पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री को प्रोटोकॉल के तहत कॉल किया था. मैंने कहा था लड़ाई से कुछ नहीं मिल पाया. हम मिलकर गरीबी और अशिक्षा के खिलाफ लड़ें. इसके अलावा पीएम ने शहीदों के परिजनों के लिए सहायता के लिए आगे आने वाले राजस्थान के लोगों की सराहना भी की.

पीएम मोदी के संबोधन की मुख्य बातें

- उन्होंने कहा, मैं पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को नमन करता हूं और राजस्थान तो कभी पीछे नहीं रहता है. उन्होंने कहा मैं हमले में शहीद हुए राजस्थान के जवानों को नमन करता हूं. मुझे उन वीर जवानों पर गर्व है.

- उन्होंने कहा आप जैसे लाखों परिवारों के सहास और हौसले के कारण ही भारत आज सीना तान कर विश्व पटल पर खड़ा है. प्रधान सेवक आतंक खत्म करने के काम में जुटा है.

- पीएम मोदी ने कहा आतंकी फैक्ट्री पर ताला लगाने का काम भी अगर मेरे ही सिर लिखा है तो ऐसा ही सही. पुलवामा हमले के बाद आपने भी देखा है कि कैसे एक एक कर पाकिस्तान का हिसाब लिया जा रहा है. हमारी सरकार के फैसलों की वजह से पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है.

- यह बदला हुआ हिंदुस्तान है. सरकार अब चुपचाप नहीं बैठती. हम आतंक को कुचलना भी जानते हैं. हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है. मानवता के खिलाफ है, हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीर के खिलाफ नहीं है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं है.

- कश्मीरी बच्चों के साथ हिंदुस्तान के किसी कौन में क्या हुआ ये मुद्दा नहीं है. मुद्दा यह है कि इस देश में ऐसा नहीं होना चाहिए. कश्मीर का हर बच्चा भी आतंकवाद से परेशान है. एक साल पहले अमरनाथ यात्रियों पर गोली चली थी. उन यात्रियों को जब गोलियां लगी, वो घायल हुए तो उनको खून कश्मीर के मुसलमान द्वारा ही दिया गया था.

- कश्मीर में जैसे हिंदुस्तान के जवान शहीद होते हैं. वैसे ही कश्मीर के लाल भी आतंकवाद की गोलियों से शहीद होते हैं. कश्मीर के जिलों में कुछ लोगों की वजह से आतंक का खेल चलता रहा है. चाहे जम्मू हो, लद्दाख हो या कश्मीर का कोई और इलाका हो. 

- पाकिस्तान में नई सरकार बनी जो नए प्रधानमंत्री बने इमरान खान को मैंने प्रोटोकॉल के तहत फोन कर बधाई दी थी और मैंने उनसे कहा था कि बहुत ही भारत-पाकिस्तान की लड़ाई. मैंने उनसे कहा था आप राजनीति में आए हो खेल की दुनिया से आए हो. आओ भारत और पाक मिलकर गरीबी के खिलाफ, अशिक्षा के खिलाफ लड़ें. उन्होंने मुझे कहा था- मैं पठान का बच्चा हूं. मैं सच बोलता हूं. अब मैं देखता हूं कि वो सच बोलते हैं कि नहीं बोलते. लेकिन मुझे उन लोगों पर अफसोस होता है जो भारत में रहकर पाकिस्तान के साथ खड़े होते हैं. ऐसे लोग जो ना देश के किसान हैं ना ही देश के जवान के हैं..

- विपक्ष पर हमला करते हुए उन्होंने कहा, ये वही लोग हैं जिन्होंने कहा था कि अगर सरकार में आए तो 10 दिन में राजस्थान के किसानों का कर्ज माफ कर देंगे. अगर हिम्मत है तो आंकड़े घोषित करो लेकिन वो नहीं करेंगे. क्या इन बड़े लोगों ने अपना वादा पूरा किया. हमारी सरकार जो वादा करती है वो निभाती भी है. हमने जो योजना बनाई है उससे से 100 में से 90  किसानों को लाभ मिलेगा. जबकि कांग्रेस की योजना में 100 में से 20 से 25 लोगों को ही लाभ मिलता था.

- मेरे फौजी भाइयों को याद होगा कि कैसे 40 साल से उन्हें वन रैंक वन पैंशन के नाम पर झूठे वादे किए गए लेकिन फिर भी किया नहीं. ये हमारी सरकार है जिसने वन रैंक वन पैंशन लागू किया और 20 लाख पूर्ज फौजियों को लगभग 11 लाख करोड़ दिया गया क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है.

- आज देश आत्मविश्वास से भरा है. यह तब भी हुआ है जब किसानों को आर्थिक सहायता मिली. गरीबों को आरक्षम मिला. सैनिकों को वन रैंक वन पैंशन मिला और ये सब तब ही मुमकिन हुआ जब आपने मोदी का साथ दिया. मोदी को आपसे ही आत्मविश्वास मिलता है.