• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    89कांग्रेस+

  • अन्य

    99अन्य

साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह को बताया आतंकी, चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब

अपने बयान में उन्होंने कहा कि 'एक बार फिर एक आतंकी का समापन करने के लिए संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है.' साध्वी प्रज्ञा के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने नोटिस जारी साध्वी से जवाब मांगा है.

साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह को बताया आतंकी, चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब
फाइल फोटो

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अपने बयान को लेकर फिर सुर्खियों में हैं. मुंबई आतंकी हमले में शहीद हेमंत करकरे पर विवादित बयान देने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को आतंकी बताया है. उन्होंने यह बयान सीहोर में चुनाव प्रचार कार्यालय का उद्घाटन करते हुए दिया है. अपने बयान में उन्होंने कहा कि 'एक बार फिर एक आतंकी का समापन करने के लिए संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है.' साध्वी प्रज्ञा के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने नोटिस जारी साध्वी से जवाब मांगा है. चुनाव आयोग ने स्वतः मामले को संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर को रिपोर्ट तलब की है. 

चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करने सीहोर पहुंची साध्वी ने दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि '16 साल पहले उमा दीदी ने उसे हराया था और 16 साल तक वह अपना मुंह नीचे करके चल रहा था, 16 साल पर मुंह नहीं उठा पाया था. अब फिर से उसने सिर उठाया है तो दूसरी संन्यासी सामने आ गई है. जो उसके कर्मों का प्रत्यक्ष प्रमाण है. एक बार फिर ऐसे आतंकी का समापन करने के लिए संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है.'

चांदी की ईंट के साथ गिलास-कटोरी रखती हैं साध्वी प्रज्ञा, भिक्षाटन पर हैं निर्भर

बता दें मध्य प्रदेश के भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह  को उम्मीदवार बनाया है. वहीं बीजेपी ने जब से साध्वी प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा सीट से प्रत्याशी घोषित किया है, तभी से वह लगातार दिग्विजय सिंह और कांग्रेस पर निशाना साधते आ रही हैं. ऐसे में दिग्विजय सिंह को आतंकी बताना उन्हीं के लिए भारी पड़ गया है. बता दें इससे पहले साध्वी प्रज्ञा मुंबई आतंकी हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए बयान को लेकर काफी विरोधों का सामना कर चुकी हैं. जिसके बाद उन्हें अपने बयान पर माफी भी मांगनी पड़ी थी. अपने बयान में साध्वी ने कहा था कि 'उस समय मैंने करकरे को कहा था कि तेरा सर्वनाश होगा, उसी दिन से उस पर सूतक लग गए थे.'

क्‍या रद्द होगा साध्‍वी प्रज्ञा का नामांकन या मिलेगी राहत? मुंबई की विशेष NIA कोर्ट का फैसला कल

साध्वी प्रज्ञा के विवादित बयानों का दौर यहीं खत्म नहीं होता है. शहीद हेमंत करकरे पर बयान देने के बाद बाबरी मस्जिद को लेकर दिए बयान पर भी साध्वी प्रज्ञा को काफी कुछ सुनना पड़ा था. जिसके बाद चुनाव आयोग में उनके खिलाफ प्रकरण भी दर्ज कराया गया था. बता दें अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराए जाने को साध्वी प्रज्ञा ने गर्व का विषय बताते हुए कहा था कि 'ढांचा गिराने पर हमें अफसोस क्यों होगा. हमें तो इस पर गर्व है. राम के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे, उसे हमने हटा दिया. इससे हमारे देश का स्वाभिमान जागा है. हम भव्य राम मंदिर बनाएंगे.'