लालू पर‍िवार में फूट, तेजप्रताप ने जहानाबाद सीट से अपनी ही पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ उतारा प्रत्‍याशी

तेजप्रताप यादव ने जहानाबाद सीट पर चंद्र प्रकाश यादव को चुनाव लड़ने के लिए आदेश दिया है. साथ ही 24 अप्रैल को नोमिनेशन कराने का निर्देश दिया है.

लालू पर‍िवार में फूट, तेजप्रताप ने जहानाबाद सीट से अपनी ही पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ उतारा प्रत्‍याशी
तेजप्रताप यादव ने चंद्र प्रकाश यादव को जहानाबाद सीट से चुनाव लड़ने को कहा है. (फाइल फोटो)

पटनाः लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार की सियासत पूरी तरह से गरम हैं. वहीं, टिकट को लेकर तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव की तकरार दिखने लगी है. उम्मीदवारी के चुनाव में तेजप्रताप यादव की बात नहीं सुनने पर अब वह बगावती तेवर पर उतर गए हैं. तेजप्रताप यादव ने जहानाबाद सीट पर चंद्र प्रकाश यादव को चुनाव लड़ने के लिए आदेश दिया है. साथ ही 24 अप्रैल को नोमिनेशन कराने का निर्देश दिया है.

तेजप्रताप यादव ने जहानाबाद और शिवहर सीट को लेकर उम्मीदवार के नाम सुझाये थे. इसलिए सायद शिवहर सीट पर उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया गया. वहीं, जहानाबाद सीट पर सुरेंद्र यादव का नाम ऐलान कर दिया गया. अब इससे तेजप्रताप यादव अपने भाई तेजस्वी यादव पर नाराज है. वहीं, उन्होंने जहानाबाद सीट पर चंद्र प्रकाश यादव को निदर्लीय चुनाव लड़ने का आदेश दिया और उन्हें समर्थन देने का भी ऐलान किया है.

Tej Pratap Yadav announced candidate for Jehanabad against surendra Yadav

तेजप्रताप यादव से मिलने जहानाबाद के आरजेडी समर्थक पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि उम्मीदवार को लेकर गलत निर्णय लिया गया है. जहानाबाद सीट से चंद्र प्रकाश यादव को टिकट देने की मांग जनता कर रही है. साथ ही वह युवा उम्मीदवार है और पिता लालू यादव के साथ भी काम किया है. उन्होंने कहा जनता की आवाज को मैंने तेजस्वी यादव तक पहुंचाया था तो कहा गया दो दिन में बात करते हैं. जिसके बावजूद जहानाबाद सीट पर उम्मीदवार की घोषणा की गई. लेकिन शिवहर पर उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया गया है.

ऐसे में तेजप्रताप यादव ने चंद्र प्रकाश यादव को समर्थन देने का वादा किया है. उन्होंने कहा चंद्र प्रकाश को निर्दलीय चुनाव लड़ने का आदेश दिया और उनके नोमिनेशन में 24 अप्रैल को खुद शामिल होने की बात कही है.

बता दें कि तेजप्रताप यादव ने जहानाबाद सीट पर चंद्र प्रकाश यादव को टिकट देने का वादा किया था. लेकिन टिकट नहीं मिलने पर आरजेडी कार्यकर्ता तेजप्रताप यादव का दरवाजा खटखटाने आए. कार्यकर्ताओं ने आक्रोश में कहा कि तेजस्वी यादव ने पैसा लेकर टिकट दिया है. लेकिन अगर ऐसा हुआ तो वह इसका विरोध करेंगे.